घटिया पुलिया निर्माण से परसोड़ी ओर आवरिया के किसानों की बड़ी परेशानी नही जा पा रहे खेत

Scn news india

दिलीप पाल
आमला. ग्राम पंचायत परसोड़ी में दस लाख की लागत से एक गाव से दूसरे गाव आवागमन के लिए पुलिया निर्माण कराया गया है जानकारी के अनुसार ग्राम पंचायत परसोड़ी और आवरिया क बीच बनी दस लाख की लागत से किसी काम की साबित नही हो रही है क्योंकि पुलिया निर्माण का कार्य बेहद घटिया किस्म का किया गया है स्टीमेट के आधार पर पुलिया की ऊँचाई जो होना चाहिए था उतनी ऊँचाई नही दी गई है थोड़ी सी बारिश होते ही पुलिया के ऊपर पानी आ जाता है और किसानों का आना जाना पूरी तरह से बंद हो जाता है जहां तक किसान अपने खेत पर भी जा नहीं पा रहा है क्योंकि पुलिया के ऊपर कितना पानी होता है कि जाना खतरे से खाली नहीं होता है ऐसे 10 लाख की लागत से बनाई गई पूरी पुलिया लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन गई है। लंबे समय से किसान पुलिया निर्माण की मांग ग्राम पंचायत से करते आ रहे थे लेकिन ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव की मिलीभगत से खटिया पुलिया का निर्माण कराया गया है जिससे कारण अब किसान बहुत परेशान हो गए हैं थोड़ी सी बारिश में भी किसान अपने खेत नहीं पहुंच पा रहे हैं ऐसे में 10 लाख की लागत से बनाई गई पुलिया बेकाम साबित हो रही है

ग्रामीणों ने की पुलिया निर्माण की जांच की मांग

ग्राम पंचायत परसोड़ी के ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर से पुलिया निर्माण के कार्यों की जांच की मांग की है ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम पंचायत द्वारा 10 लाख की लागत से जो पुलिया निर्माण किया कराया गया है पुलिया की ऊंचाई बहुत ही कम रखी गई है 10 लाख की लागत नहीं लगाई गई है पुलिया निर्माण में सरपंच सचिव द्वारा राशि बचाई गई जबकि 10 लाख की लागत से पुलिया निर्माण अच्छे से होना चाहिए था जिससे कि किसानों को आवागमन में आसानी होती लेकिन 10 लाख की लागत से बनी पुलिया आप किसानों के लिए परेशानी बन गई है ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर सहित जिला पंचायत सीईओ एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत आमला से पुलिया निर्माण की जांच कराए जाने की मांग की है ग्रामीणों का कहना है कि अगर जल्द ही पुलिया निर्माण की जांच नहीं कराई जाती है तो पंचायत स्तर पर उग्र आंदोलन ग्रामीणों द्वारा किया जाएगा।

ग्राम में नहीं रहते सचिव दूसरे ग्राम से करते है आना-जाना

ग्राम पंचायत परसोड़ी के सचिव रमेश यादव ग्राम में निवास नही करते है जबकि उनका मुख्यालय ग्राम पंचायत परसोड़ी है लेकिन व रोजना दूसरे गाव से आना जाना करते है ऐसे में ग्रामीणों के होने वाले हितग्राहि मुल्क कार्य नही हो पा रहे है ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम पंचायत कार्यलय बहुत ही कम खुलता है ऐसे में समग्र आईडी प्रधानमंत्री आवास पात्रता पर्ची जैसे बहुत सारे कार्य समय पर नहीं हो रहे हैं जिससे कारण ग्रामीणों को बार-बार पंचायत कार्यालय के चक्कर काटना पड़ रहा है वही पंचायत कार्यालय नहीं खुलने से ग्रामीणों को मजबूरी में जनपद पंचायत आकर अपना काम कराना पड़ रहा है जबकि सारे काम पंचायत कार्यालय से किए जाना है ग्रामीणों ने सचिव रमेश यादव को हटाए जाने की मांग जिला कलेक्टर से की है।