संयुक्त मोर्चे ने सौपा ज्ञापन

Scn news india

दिलीप पाल 

आमला – मध्यप्रदेश पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग संयुक्त मोर्चा द्वारा सोमवार को मुख्य कार्यपालन अधिकारी और तहसीलदार को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के नवगठित संयुक्त मोर्चा के तत्वाधान में जायज मांगों को लेकर 19 जुलाई से 20 जुलाई तक सामूहिक अवकाश एवं 22 जुलाई को अनिश्चितकालीन कलम कार्यालय बंद हड़ताल पर जाने का ज्ञापन सौंपा है संयुक्त मोर्चा ने ज्ञापन के माध्यम से मांग की है कि पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अधिकारी कर्मचारी संयुक्त मोर्चा राज्य इकाई के निर्देश पर 12 जुलाई को समस्त संगठनों द्वारा सात दिवस में कर्मचारियों की मांगों का निराकरण करने के लिए ज्ञापन सौंपा था जिसमें कहा गया था कि सरकार पहल करके शीघ्र मांगों के निराकरण करें अन्यथा हमें सामूहिक आंदोलन पर जाने के लिए बाद देखना पड़ेगा ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि राज्य शासन के मुख्य सचिव मुख्यमंत्री पंचायत मंत्री प्रमुख सचिव कलेक्टर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सभी को संगठन के समस्त इकाइयों द्वारा ज्ञापन प्रेषित किया गया लेकिन आज दिनांक तक शासन द्वारा कोई पहल नहीं की गई नाही कोई मांगों का निराकरण किया ऐसी दशा में राज्य इकाई के आवाहन पर 19 जुलाई से 20 जुलाई तक सामूहिक अवकाश आंदोलन के प्रथम चरण में एवं दिनांक 22 जुलाई से सामूहिक अनिश्चितकालीन कलम कार्यालय बंद हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया है इस सूचना पत्र के माध्यम से समस्त संगठन के कर्मचारी अधिकारियों ने कहा है कि समस्त हस्ताक्षर करता संगठन जो कि नवगठित संयुक्त मोर्चा के घटक संगठन है आज से अनिश्चितकालीन आंदोलन में सम्मिलित हो रहे हैं ज्ञापन सोते समय राजेंद्र गंगारे, विमल कुमार बचले, गजेंद्र शिकरवार, किशन सिंह परमार , गजेंद्र कवडे, सरिता कुशवाह, सर्वेश दीक्षित , किशोरी आथनकर सहित समस्त कर्मचारी अधिकारी उपस्थित थे ।