9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में अवकाश घोषित करने महामहिम राज्यपाल महोदय महोदय जी के नाम कलेक्टर बैतूल को ज्ञापन सौंपा

Scn news india

अलकेश साहू 

बैतूल – जिला कलेक्टर बैतूल को महामहिम राज्यपाल महोदय जी के नाम ज्ञापन सौंपा और निवेदन किया। सन् 1994 में संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा घोषित 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर आदिवासी समुदाय के जन-प्रतिनिधि, समाज सेवी, अधिकारी कर्मचारी, एवं बुध्दि जीवी लोग उनके जल जंगल जमीन और शैक्षणिक, सामाजिक, राजनीतिक, आर्थिक, सांस्कृतिक, संवैधानिक हक अधिकार, पर्यावरण संरक्षण जैसे महत्वपूर्ण विषयों पर एकजूट होकर आदिवासी समुदाय की उन्नति को लेकर चिन्तन मनन कर सके।
मध्य प्रदेश आदिवासी बहुल राज्य है उनकी जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए पूर्व मुख्यमंत्री मा श्री कमलनाथ जी के वर्ष 2019 सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में अवकाश घोषित कर 89 आदिवासी विकास खंड में 50,0000रु की राशि शासन द्वारा स्वीकृत की गई थी। और सम्पूर्ण मध्य प्रदेश में आदिवासी दिवस को पर्व के रूप में मनाया गया था।
परन्तु वर्तमान शिवराज सरकार द्वारा 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर कोई भी दिशा निर्देश जारी नहीं किए गए हैं।
जिससे यह प्रतित होता है की शिवराज सरकार आदिवासी विरोधी सरकार है।
अतः महामहिम राज्यपाल महोदय जी मध्य प्रदेश के आदिवासी समुदाय की जन भावनाओं को ध्यान में रखते हुए 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर अवकाश घोषित करने की कृपा करें।
ज्ञापन देते समय मुख्य रूप से रामू टेकाम पूर्व सांसद प्रत्याशी प्रदेश अध्यक्ष मप्र आदिवासी विकास परिषद युवा प्रभाग, डॉ रमेश काकोडिया जी संरक्षक मप्र आदिवासी विकास परिषद युवा प्रभाग जिला बैतूल, राजेश धुर्वे जिला अध्यक्ष मप्र आदिवासी विकास परिषद युवा प्रभाग जिला बैतूल, प्रीती नर्रे जिला अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ आदिवासी विकास परिषद युवा प्रभाग जिला बैतूल, बब्लू धुर्वे , कवल कुमरे, आदि आदिवासी विकास परिषद युवा प्रभाग के पदाधिकारी उपस्थित रहे।