आमला की घटना को लेकर कांग्रेस का मौनव्रत ?

Scn news india

।।वामन पोटे।।
बैतूल14 जुलाईआमला में हुई गोलीकांड और आत्महत्या के चलते पांच की असमय मौत हो गई ।घटना के बाद कांग्रेस ने विपक्ष की भूमिका भी नही निभाई और कांग्रेस भी चक्रब्यहू में उलझ कर रह गई।घटना में अवैध पिस्टल का उपयोग किया गया परन्तु कांग्रेस के जिला अध्यक्ष सहित चार विधायको ने घटना की निंदा तक नही की ये भी अब आम जन में चर्चा का विषय बन गया है ।इस घटना के बाद जिला कांग्रेस अध्यक्ष की प्रतिक्रिया जानने के लिए मोबाइल  पर संपर्क  भी किया परन्तु आला अधिकारियों के जैसे फोन ही रिसीव नही किया।

व्यवस्था में व्याप्त भ्रष्टाचार से लड़ने की आदर्शवादी चाह और साथ ही व्यक्तिगत जीवन में उन्नति के सोपान चढ़ने व अपने प्रियजनों के लिए सुख-सुविधा हासिल करने की महत्वाकांक्षा के द्वंद्व के कारण जिंदगी किस तरह बीहड़ और खतरनाक परिस्थितियों में उलझ जाती है और कई बार तमाम संघर्ष व कष्ट के बाद भी अंतत: हार और हताशा ही हाथ लगती है, इस कथानक को समकालीन दौर के साहित्य, रंगमंच व फिल्म में कई बार अपने-अपने तरह से दोहराया गया है। यथार्थ की ओर नई-नई भंगिमाओं के साथ बढ़ती साहित्यिक चेतना अब ‘सत्यमेव जयते’ के शाश्वत सिद्धांत का आग्रह किए बगैर जनजीवन में घट रही घटनाओं की निराशाजनक तस्वीर को यथातथ्य प्रस्तुत करने में हिचकती नहीं है।