बड़ी खबर – दूसरे प्रदेश से लाई थी आरोपी भानू ने पिस्टल, मोबाइल की सीडीआर के आधार पर टीमें रवाना जल्द पुलिस करेगी खुलासा

Scn news india

 

फ़ाइल फ़ोटो

दिलीप पाल तहसील ब्यूरो आमला  

आमला. शहर में घटित गोलीकांड में जिस पिस्टल से आरोपी भानू ने फायर किए थे, वे अन्य प्रदेशों से लाए गए थे। मोबाइल की सीडीआर के आधार पर पुलिस टीमें आरोपियों की धरपकड़ के लिए रवाना हुई हैं। संभावना जताई है कि जल्द ही इस मामले का खुलासा किया जा सकता है। आरोपी भानू ने विगत 10 जुलाई को अपनी प्रेमिका सहित 3 लोगों पर फायर कर उनकी हत्या कर दी थी। आरोपी द्वारा स्वयं भी सुसाइड कर लिए जाने पर पुलिस के लिए जांच का यही विषय रह गया है कि उसने पिस्टल कहां से प्राप्त की थी। इसके लिए पुलिस ने उसके मोबाइल की काल डिटेल खंगाली है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पुलिस को संदेह है कि आरोपी भानू ने यह पिस्टल दक्षिण भारत या फिर महाराष्ट्र से लेकर आया है। यही कारण है कि पुलिस ने पिस्टल बेचने वालों की गिरफ्तारी के लिए 2 टीमें रवाना की हैं।घटना को अंजाम देने से पहले बनाए वीडियो में आरोपी ने बोडख़ी के राकेश हारोड़े से पिस्टल लेना बताया था, लेकिन जांच में यह बात झूठी निकली है। इसलिए पुलिस ने पिस्टल उपलब्ध कराने वालों की तलाश कराने वालों पर अपना ध्यान केंद्रित कर लिया है। इस संबंध में आमला टीआई सुनील लाटा ने बताया कि आरोपियों की जैसे ही गिरफ्तारी होगी, इसकी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।

आरोपी भानु ओर नागेश के बड़े भाई ने लगाया प्रताड़ना आरोप

हदर्यविधारक घटना जिसमें त्रिकोणीय हत्याकांड हुआ था मामला नगर के भवानी नगर का है जहां प्रतिष्ठित सर्राफा व्यापारी सुनील सिकेवाल के निवास पर त्रिकोणीय हत्याकांड हुआ था जहाँ प्रेम प्रसंग को लेकर अपनी प्रेमिका सहित दो युवकों को गोली से भूनकर उनकी हत्या कर दी उसके बाद आरोपी भानु ठाकुर ने स्वयं खुद को भी गोली मार कर आत्महत्या कर ली थी घटना स्थल पर ही चारो युवक युवती की मौत हो गई थी इस हत्याकांड की जाच जब पुलिस ने शरू की तो आरोपी भानु ठाकुर के परिजन उसके भाई योगेश ठाकुर एव नागेश ठाकुर को पूछताछ के लिए थाने में बुलवाया गया था दोनों भाइयों के अलग-अलग तरीके से बयान कराए गए बयान होने के बाद दोनों भाइयों को पुलिस ने घर वापस भेज दिया उसके बाद पुनः दूसरे दिन सुबह भानु के बड़े भाई नागेश को पूछताछ के लिए थाने से फोन आया कि थाने में पूछताछ के लिए बुलाया है उसके बाद नागेश ने अपने आपको घर के कमरे में  बन्द कर लिया जब भानु के सबसे बड़े भाई योगेश ने नागेश को थाने जाने के लिए बुलाया तो नागेश के रूम का दरवाजा अंदर से बंद था तो योगेश ने अपनी माँ को कहा कि नागेश को आवाज देने के बाद भी वो दरवाजा नही खोल रहा है जैसे तैसे महोल्ले वालो को बुलाकर दरवाजा तोड़ा गया तो देखा कि नागेश का शव रस्सी से लटका हुआ था और उसकी मृत्यु हो चुकी थी नागेश ने अपने आपको फाँसी लगा ली थी । इसके बाद पुलिस को तत्काल परिजनों ने सूचना दी कि नागेश ने अपने ही कमरे में रस्सी से लटक कर फाँसी लगा ली थी । मौके पर पुलिस थोड़े देर बाद पहुची पुलिस ने भानु के बड़े भाई को कहा कि पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराओ की नागेश ने फांसी लगा ली है उसके बाद शव को फंदे से नीचे उतारा जायेगा भानु की माँ और बड़े भाई योगेश दोनों ही पुलिस थाना आमला आकर रिपोर्ट की लेकिन पुलिस जब तक घटना स्थल पर पहुच गई थी और जाँच  शुरू  कर दी थी।  जैसे ही पुलिस के आला अधिकारियों को इसकी जानकारी लगी तो मौके पर एसपी सीमला प्रसाद एव एसडीओपी नम्रता सोंधिया सहित जिले के विभिन्न थाना से पुलिस अधिकारी पूछ गए थे और नागेश के शव को सड़क पर रखकर हो रहे प्रदर्शन को एसडीओपी नम्रता सोंधिया ने शांत कराया एव परिजनों को समझाइश दी गई।