ईडब्ल्यूएस प्रमाण-पत्र भी अब लोक सेवा गारंटी अधिनियम में अधिसूचित – क्या है ईडब्लूएस प्रमाण-पत्र

Scn news india

मनोहर

भोपाल-आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के अभ्यर्थियों को आय एवं सम्पत्ति प्रमाण पत्र जारी करना ईडब्ल्यूएस की सेवा मध्यप्रदेश प्रदेश लोक सेवाओं के प्रदान की गारंटी अधिनियम 2010 अंतर्गत अधिसूचित की गई है। इस सेवा का उद्देश्य मध्यप्रदेश का आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग जो संविधान के अनुच्छेद 341 एवं 342 के अंतर्गत मध्यप्रदेश राज्य के लिए अधिसूचित अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति तथा राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर संशोधित अधिसूचना क्रमांक एफ 85-25-4-84 26 दिसम्बर 1984 द्वारा विर्निर्दिष्ट अन्य पिछड़ा वर्ग को प्रदत्त आरक्षण की परिधि में नहीं आते हैं, को शैक्षणिक संस्थाओं में प्रवेश एवं शासकीय नौकरियों में 10 प्रतिशत आरक्षण हेतु आय एवं संपत्ति प्रमाण पत्र जारी किया जाना है।

   इस सेवा के लिए पदाभिहित अधिकारी के रूप में तहसीलदार को अधिकृत किया गया हैं एवं सेवा के निराकरण की समय सीमा 15 दिवस है। इस सेवा को प्राप्त करने के लिए ऐसे नागरिक पात्र हैं, जिनके परिवार की कुल आय 8 लाख रूपये से अधिक न हो। आय में सभी स्त्रोतों की आय शामिल होगी जो वेतन, कृषि, व्यवसाय आदि से होवे। ईडब्ल्यूएस की सेवा प्राप्त करने के लिए नागरिक तहसील मुख्यालयों में स्थापित लोक सेवा केन्द्र में जाकर निर्धारित दस्तावेज व शुल्क जमा कर अपना आवेदन जमा करा सकते हैं।
ईडब्लूएस / EWS का अर्थ है आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग। इस प्रमाणपत्र का उपयोग गरीब सामान्य श्रेणी के लोगों को 10% आरक्षण प्रदान करने के लिए किया जाता है। यह प्रमाणपत्र आय प्रमाण पत्र के समान है जो किसी नागरिक की वित्तीय स्थिति को दर्शाता है। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के सामान्य वर्ग को आरक्षण की सुविधा प्रदान करना ही सरकार का मुख्य उद्देश्य है। इसी के अंतर्गत मोदी सरकार द्वारा आर्थिक कमजोर वर्ग हेतु एक प्रमाण पत्र जारी किया जाता है ताकि वे भी आरक्षण का लाभ ले सकें।