नर्सों की हड़ताल अवैध घोषित हाईकोर्ट ने कहा काम पर लोटे

Scn news india

मनोहर

भोपाल- प्रदेश में 30 जून से चल रही प्रदेशव्यापी नर्सों की हड़ताल को हाईकोर्ट ने आज सुनवाई में अवैध घोषित करार  दिया साथ ही  सुनवाई में पेश हुई मप्र नर्सेज एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष रेखा परमार को आदेश दिया है कि वे 8 जुलाई से काम पर लौटें। किन्तु  सरकार को भी आदेश दिया कि वह हाई लेवल कमेटी बनाकर नर्सों की मांग का एक महीने के अंदर निराकृत करें।

बता दे कि नागरिक उपभोक्ता मंच ने नर्सों की हड़ताल को अवैध घोषित करने को लेकर जनहित याचिका हाईकोर्ट में दायर की थी। याचिका के माध्यम से सवाल उठाया था कि कोविड काल में नर्स और डॉक्टर सहित हेल्थ से जुड़े लोग हड़ताल नहीं कर सकते हैं। राज्य सरकार ने भी 28 जून को हड़ताल को अवैध घोषित कर दिया था। बावजूद 30 जून से नर्सों की हड़ताल जारी थी और लगातार सरकार से अपनी 12 सूत्री मांगों को ले कर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर थे। चूंकि अब हाईकोर्ट द्वारा  सुनवाई में नर्सों की हड़ताल को अवैध घोषित किया है। ऐसे में अब दो ही विकल्प हो