अगले दो दिनों में फिर तरबतर होगा मध्य प्रदेश – होगी झमाझम बारिश – 11 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट

Scn news india
मनोहर
भोपाल/ मध्य प्रदेश में मानसून आते ही शुरु हुई झमाझम बारिश पर फिलहाल ब्रेक लग गया है, जिसके चलते प्रदेश वासियों को एक बार फिर गर्मी और उमस का सामना करना पड़ रहा है। फिलहाल, मौसम विभाग ने प्रदेशवासियों के लिये गर्मी और उमस से राहत मिलने के संकेत दिये हैं। विभाग के मुताबिक, आगामी दो दिनों में प्रदेश के अधिकतर हिस्सों में बारिश का दौर एक बार फिर शुरु हो जाएगा।
10 तक प्रदेशभर में दस्तक
मौसम विभाग के मुताबिक, 7 जुलाई से प्रदेश में एक बार फिर मानसून सक्रिय होने लगेगा, जो 8 जुलाई तक प्रदेश के अधिकतर इलाकों में प्रभावी हो जाएगा। भोपाल और इंदौर में एक बार फिर मानसूनी बारिश का सिलसिला शुरु हो जाएगा। मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक, 10 जुलाई तक प्रदेशभर में मानसून सक्रीय हो जाएगा। इसके बाद कहीं, तेज तो कही हल्की बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।
11 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट
बता दें कि, बंगाल की खाड़ी में एक बारि फिर मानसूनी गतिविधियां बनने लगी हैं, जिसके चलते प्रदेश में बारिश का सिलसिला शुरु होगा। फिलहाल, ये कम दबाव का क्षेत्र राजस्थान में बन रहा है। फिलहाल, मौसम विभाग ने आगामी 3 दिनों में भोपाल के अलावा उज्जैन और बालाघाट समेत 11 जिलों में बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। बता दें कि, प्रदेश के धार, उज्जैन, देवास, शाजापुर, बैतूल, हरदा, अनूपपुर, डिंडोरी, सिवनी, मंडला और बालाघाट जिलों के अलावा रीवा संभाग में हल्की बारिश रहेगी। जबकि, भोपाल, जबलपुर, इंदौर, होशंगाबाद, शहडोल, ग्वालियर और चंबल संभागों में गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी की संभावना है।
मानसून ब्रेक एक सामान्य प्रक्रिया पर इस बार पहले हुआ ब्रेक
मौसम विभाग के अनुसार, एक बार मानसून सेट होने के बाद उसमें ब्रेक होना एक सामान्य प्रक्रिया है। सामान्य तौर पर जुलाई के तीसरे और अंतिम सप्ताह में मानसून ब्रेक होता था, लेकिन इस बार प्रदेश में मानसून तय समय से जल्दी सेट हो गया था, जिसके चलते ये पहले ब्रेक हो गया है। फिलहाल बंगाल की खाड़ी में मानसूनी सक्रीयता बढ़ रही है। प्रदेश में इसके आसार 7 जुलाई से दिखना शुरु हो जाएंगे। बारिश की शुरुआत पूर्वी मध्य प्रदेश से होगी। वहीं, 8 जुलाई तक भोपाल, इंदौर समेत नजदीकी इलाकों में बारिश शुरू हो जाएगी। वहीं, 10 जुलाई तक प्रदेश में मानसून सेट होने के बाद तेज बारिश का सिलसिला शुरु होगा।