कलेक्टर के रास्ते की रुकावट बनी गरीबो की दुकानें….

Scn news india

 

रविकांत बिदोल्या

दमोह/तेन्दूखेड़ा

बीते कुछ ही दिनो पहले जिला कलेक्टर एस कृष्ण चैतन्य द्वारा तेंदूखेड़ा जनपद कार्यालय में समस्त स्टाप की टीम आयोजित की गई थी जिसमे शामिल होने के दौरान खकरिया रोड पर वाहनों की आवाजाही की वजह से कलेक्टर को कुछ देर गाड़ी में ठहरना पड़ा जिसके चलते कलेक्टर ने नगर परिषद सीएमओ को अतिक्रमण हटाने के निर्देश दे डाले जिसके तत्वावधान में
आज नगर परिषद द्वारा वार्ड न.09 का अतिक्रमण हटाया गया इसका मुख्य उद्देश्य वाहनो की आवाजाही में होने वाली रुकावट के चलते यह बड़ी कार्यवाही की गई आपको बता दे नगर के वार्ड न.09 में कई सालों से यहां के दुकानदारो ने अपनी दुकानों के सामने टीन सेट लगाकर अतिक्रमण कर लिया था जिसकी वजह से बड़े बड़े वाहनों के आवागमन में परेशान होती थी इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए नगर परिषद अमले ने तेंदूखेड़ा पुलिस की मौजूदगी में तोड़ा-फोड़ो अभियान के तहत खकरिया मार्ग का अतिक्रमण हटवाया ।

कल तक टीन सेट और टपरा बने थे जाम के अड्डे आज खुले मैदान में हुए तब्दील…
नगर परिषद का बुल्डोजर चलने के बाद नगर की मुख्य सड़के खुला मैदान की तरह साफ सुथरी दिखने लगी यह पूरी कार्यवाही जिला क्लेक्टर एस कृष्ण चैतन्य के दिशा निर्देशन पर की गई हैं जानकारी के लिए बता दे कि जिला कलेक्टर तेंदूखेड़ा जनपद कार्यालय की ओर जा रहे थे इन बीच नगर के वार्ड न.09 में जाम लगा हुआ था जिसके चलते कलेक्टर को कुछ समय अपनी ही गाड़ी में बिताना पड़ा जिसके बाद उन्होंने नगर परिषद पर नाराजगी जाहिर करते हुए अतिक्रमण हटाने के लिए सीएमओ को निर्देश दिए जिसके बाद नगर परिषद की आंख खुली और नगर परिषद उपयंत्री अशोक शाह के निर्देश पर अतिक्रमण हटाया गया तो वही दूसरी ओर कार्यवाही चर्चा का विषय भी बना हुआ है क्योकी जिस जगह नगर परिषद ने आज अतिक्रमण हटाया है वहां गरीबों के टपरे और टीन सेट तो जे सी बी से गिराये गये हैं जिन्हें सामान निकालने तक का समय नहीं दिया गया वही अमीरों रसूखदार लोगो को दुकानों से सामग्री उतने का अच्छा खासा समय दिया गया जिसको लेकर नगर के लोगो नाराजगी जताई है साथ ही नगर परिषद पर बिना सूचना दिए उनके टीन शैडो पर बुलडोजर चलाने के आरोप लगाए है ।

मुख्य मार्ग से जनपद तक हटाया
नगर परिषद द्वारा आज अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही सुबह 11:00 बजे से शुरू कर दी गई थी जोकि दोपहर 3:00 बजे तक चली इस कार्यवाही के दौरान नगर परिषद द्वारा पुलिस की मौजूदगी में मुख्य मार्ग से लेकर खकरिया रोड जनपद तक का अतिक्रमण हटाया गया अतिक्रमण के दौरान दुकानों के सामने लगे टीन सेट और जो टपरे सडको के किनारे रखे थे उनको हटाने की कार्यवाही भी की गई।

उपयंत्री की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल…
अतिक्रमण हटाने की मुहिम पर नगर के ज्यादातर लोगों द्वारा नगर परिषद के कर्मचारियों पर प्रश्नचिन्ह खड़े किए गए खासकर उपयंत्री अशोक शाह पर जिन्होनें अतिक्रमण हटाने के दौरान गरीबो के टपरे ओर टीन सेट पर तो जे सी बी चला दी जिससे कई टीन और टपरो में रखी सामग्री खराब हो गई किन्तु जब बड़े व्यापरियों के अतिक्रमण हटाने की बारी आई तो उनकी दुकानो के सामने जे सी बी खड़ी करके उनको पूरा मौका दिया ताकि वह अपना बहू कीमती सामान उठा ले जिससे उनकी दुकानों के सामने लगे टीन और सामग्री सुरक्षित बच गई लेकिन उपयंत्री की इस भेदभाव नीति पर नगर के लोगो ने नाराजगी जताई है ।
1.नगरवासी उर्मिला नामदेव ने बताया कि उनके पति नहीं वह कपड़े बेचकर अपने परिवार का भरण-पोषण करती है लेकिन नगर परिषद के बुलडोजर ने उनकी दुकान चोपट कर दी अब कैसे वह आप अपने परिवार का पेट भरेंगी
2. तो वही मुकेश सेन ने बताया कि उसकी दुकान में कुछ सामग्री रखी थी नगर परिषद द्वारा बिना सूचना दिए उसकी दुकान को तोड़ कर फेंक दिया जिससे दुकान क्षतिग्रस्त हो गई और उसका पूरा छपर भी टूट गया।

वही इस सम्बंध ने जब नगर परिषद सीएमओ प्रकाश चंद्र पाठक ने जानकारी देते हुए बताया कि यह पूरी कार्यवाही जिला क्लेक्टर के निर्देश पर की गई है।