मंहगाई को लेकर आम आदमी पार्टी ने तहसीलदार को सौपा ज्ञापन

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

घोड़ाडोंगरी -मंहगाई को लेकर आम आदमी पार्टी ने राज्यपाल के नाम तहसीलदार मोनिका विश्वकर्मा को ज्ञापन सौपा। आम आदमी पार्टी ने बीजेपी सरकार पर मंहगाई पर नियंत्रण नहीं रख पाने का आरोप लगाया है।

उनका कहना है कि एक ओर प्रदेश की जनता महामारी से पीड़ित हैं जन सामान्य ने अपनों को खोया है इस वैश्विक महामारी कोविड-19 में लाखों लोगों की मृत्यु हुई हैं,उसके अलावा इस बीमारी के कारण लोगों की जमा पूंजी भी निजी अस्पतालों की लूट की भेंट चढ़ गई हैं।जबकि उनके पास रोजगार भी नहीं है ऐसी स्थिति में मध्य प्रदेश सरकार ने पेट्रोल डीजल के दामों में बेतहाशा वृद्धि करके महंगाई को अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंचा दिया है।पेट्रोल डीजल के अधिक दामों की वजह से आवागमन एवं ट्रांसपोर्ट भी महंगा हो गया है,जिससे सामान्य जन के दैनिक उपयोग की वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं।

सारणी  पीयूष डेनियल की रिपोर्ट

लगभग डेढ़ वर्ष पहले खाद्य तेल के दाम लगभग 85रु लीटर हुआ करते थे जो कि अब 200रु के पास पहुंच चुके हैं।इसी प्रकार से प्रत्येक दैनिक उपयोगी वस्तुओं के दाम भी लगातार बढ रहें हैं।इसके अतिरिक्त दवाइयों के जो दाम 2 वर्ष पूर्व हुआ करते थे अब उनमे 25 से 180% तक बढ़ोतरी हुई है,जिससे कई जीवन उपयोगी दवाइयों की कीमतें लगभग दोगुनी से भी अधिक हो चुकी हैं। इसी प्रकार से रसोई गैस के दामों में लगातार वृद्धि से कई स्थानों पर प्रदेश की जनता ने परंपरागत चूल्हे अपना लिए हैं,जिसका विपरीत प्रभाव उनके स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ा हैं,साथ ही साथ पर्यावरण पर भी पड़ रहा है।बिजली बिल के नाम पर भी प्रदेश की आपदाग्रस्त जनता को बिजली कंपनियों द्वारा मनमाने ढंग से लूटा जा रहा है। नगर निगम ने भी किसी तरह के मकान दूकान के करों व जल कर में छूट देने का काम नहीं किया है।इस भीषण महंगाई व वैश्विक महामारी के दौर में सामान्य व्यक्ति का जीवकोपार्जन अत्यंत दुष्कर हो गया है।

उन्होंने बताया  कि जिस प्रकार से आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली में पेट्रोल के दाम ₹97 और डीजल के दाम ₹88 अपने राज्य करों को कम रखकर दिल्ली की जनता के लिए उपलब्ध करा रही है उसी तरह मध्यप्रदेश में भी तत्काल ही पेट्रोल डीजल से अतिरिक्त शुल्क,सेस हटाकर वैट कम किये जाएं,ताकि मध्यप्रदेश की जनता को भी पेट्रोल और डीजल ₹97 और ₹88 में उपलब्ध हो सके, जिससे आम आदमी को महंगाई से कुछ राहत मिल सके।यदि राज्य सरकार द्वारा अपने असीमित व अनर्गल राज्य करों को अविलम्ब कम नहीं किया जाता है तो आम आदमी पार्टी प्रदेश वासियों को महंगाई से निजात दिलाने बावत जनहित में आंदोलन हेतु विवश होगी।