भाजपा ने मीसाबंदियो का घर पहुंचकर किया सम्मान

Scn news india

सारनी । 25 जुन 1975 की अर्धरात्री में तात्कालिन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देष पर आपातकाल थोप कर नागरिको के लोकतंत्रिक अधिकारो को समाप्त कर दिया था। देष के वरिष्ठ नेताओ को गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ , जनसंघ और उससे जुडे राष्ट्रवादी संगठनो को प्रतिबंंिधत कर दिया। अंधकार के ऐसे समय राष्ट्रवादियो सहित लोकतंत्र समर्थको ने इंदिरा गांधी की तानाषाही के विरोध में आवाज उठाई और प्रताडना झेली। आपातकाल की बरसी पर जिला भाजपा ने जिले के लोकतंत्र सेनानीयो (मीसाबंदियो) का सम्मान किया। जिले में निवासरत लोकतंत्र सेनानीयो का पार्टी के वरिष्ठ नेताओ ने उनके निवास स्थान पर पहुंचकर शाल श्रीफल भेंटकर सम्मान किया। और लोकतंत्र की बहाली के लिए उनके द्वारा किए गए संघर्ष को नमन किया। जिला मुख्यालय पर निवासरत लोकतंत्र सेनानी (मीसाबंदी) पूर्व सांसद सुभाष आहूजा , पूर्व जिलाध्यक्ष रामचरित्र मिश्रा, मोतीलाल कुषवाह, गुलाबराव पंडाग्रे का पार्टी जिलाध्यक्ष आदित्य बबला शुक्ला के नेतृत्व में पार्टीजनो ने निवास स्थान पर पहुंचकर शाल श्रीफल भेंटकर सम्मान किया एवं उनके दीर्घायू होने की कामना की। इस अवसर पर पूर्व सांसद हेमंत खंडेलवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष जितेन्द्र वर्मा, कार्यक्रम प्रभारी रंजीत सिंह, मंडल अध्यक्ष विक्रम वैद्य, सह कोषाध्यक्ष दीपक सलूजा, पूर्व जिला महामंत्री पूरन साहू, अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष अबिजर हुसैन, मंडल महामंत्री विक्रम शर्मा, पूर्व मंडल अध्यक्ष राजेष आहूजा इत्यादि उपस्थित रहे।