भारिया समाज की महिलाएं हक के लिए दर दर भटक रहे।

Scn news india

डिंडोरी गणेश प्रसाद शर्मा

डिंडोरी जिले के विशेष पिछड़ी जनजाति भारिया समाज की माताएं बहनों को नहीं मिल रहा पोषण की राशि।
बिगत वर्ष प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी जिसमे कमल नाथ जी के द्वारा गरीबों के लिए तरह तरह की योजनाओं का सुभारम्भ किया था किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ,बिजली बिल,गरीब कन्याओं के विवाह हेतु 50हजार,ऐसे ही प्रदेश के तमाम जिले में बैगा, भारिया,जनजाति के लिए एक-एक हजार रुपये की पोषण आहार के लिए दिया गया था जो कि महज कुछ महीनों तक मिला।
वंही डिंडोरी जिले के बजाग जनपद पंचायत के बड़े होनहार ग्राम पंचायत गाड़ासरई वॉर्ड नंबर15 कुकड़ा टोला का मामला भारिया समाज का ऐसा ही मामला सामने आया जो कि समाज के महिलाओं का आरोप है कि इससे पहले जब कमल नाथ जी मुख्यमंत्री थे तो हमको पैसा मिलता था और अब भाजपा के सरकार में ये शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री योजना बन्द कर दिया है जिससे हमको पैसा नही मिलता इसके पहले जब हमको एक हजार रुपये मिलता था तो हम गरीब लोगों का परिवार का बहुत कुछ भला पालन पोषण होता था अब तो कोरोना जैसे महामारी में हम गरीबों के पास जीवन यापन के लिए काम भी नही हैऔर ऐसे विपत्ति संकट के घड़ी में ये शिवराज सिंह मुख्यमंत्री हमारे साथ बहुत ना इंसाफी किया है।
साथ ही ग्रामीणों का कहना है कि इसकी शिकायत हम लोग जनपद, जिला पंचायत एवं तमाम जगह कर चुके है लेकिन आज तक हमारी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है।
सर्मसार कर देने वाली बात तो जब खड़ी होती है कि जब इससे पहले सरकार मुख्यमंत्री कमलनाथ जी थे तो गरीबों के लिए तमाम योजनाओं का सुभारम्भ तो किये पर भाजपा सरकार को ये बात हजम नही हुई जिससे कि विधायको को खरीद फरोक कर अपनी सरकार तो बना लिए पर बेचारे गरीबों को आज खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।वंही आज ग्राम के समस्त महिलाओं ने परेशान होकर ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष रमाकांत साहू के अगुवाई में छेत्र के विधायक श्री ओमकार सिंह मरकाम के माध्यम से सहायक आयुक्त डिंडोरी एवं प्रदेश सरकार के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से आवेदन के माध्यम से निवेदन किये है कि हमको जो पैसा मिलता था वो मिलना चाहिए जिससे कि हमारे और हमारे परिवार का पालन पोषण हो सके हम गरीब आदिवासी जनजाति समुदाय के है बनी मजदूरी कर जीवन यापन कर रहे हैं हमारी निवेदन को स्वीकार करने का कष्ट करें।।