पचमढ़ी से इंसास राइफल चोरी मामले में आरोपी पंजाब से गिरफ्तार

Scn news india

मनीष मालवीय इटारसी 

होशंगाबाद // मध्य प्रदेश के पचमढ़ी आर्मी ट्रेनिंग सेंटर से राइफल्स और कारतूस चुराने वाले हरप्रीत समेत तीन आरोपियों को पकड़ लिया गया है। आर्मी और मध्य प्रदेश की एटीएस टीम ने सोमवार रात को होशियारपुर के टांडा से गिरफ्तारी की है। हरप्रीत खालिस्तान समर्थक है। पुलिस पूछताछ में बताया कि वह लोग हथियारों को कंबल में लपेटकर लाए हैं। यह लगभग 2 साल पहले सेना में भर्ती हुआ था। सुरक्षा एजेंसियों के मुताबिक आरोपी पाकिस्तान के सुपर पावर पाकिस्तान फेसबुक पेज को फॉलो करता है।

होशियारपुर के मियाणी गांव का फरार हरप्रीत सिंह 2017-18 में सेना में भर्ती हुआ था।उसने आर्मी की ट्रेनिंग पचमढ़ीमें आर्मी सेंटर से ट्रेनिंग ली थी।बाद में उसकी तैनाती कहीं और हो गई थी। पिछले गुरुवार रात को हरप्रीत सिंह पचमढ़ी के उस ट्रेनिंग सेंटर में पहुंचा और वहां पर तैनात गार्ड्स को चकमा देकर दो इंसास राइफलें और 70 कारतूस लेकर फरार हो गया। हरप्रीतके साथएक और शख्स था। दोनों आरोपीएक एटीएम की सीसीटीवी फुटेज में देखा गया था।

पहले दोस्तों को उठाया, फिर रात में चौटाला गांव से हरप्रीत पकड़ा
बीती रात एटीएस, आर्मी इंटेलीजेंस और आईबी की टीमों ने यहां आकर जॉइंट ऑपरेशन में हरप्रीत के मियाणी गांव के दो दोस्तों जगतार सिंह जग्गा और सोनू को पकड़ा। जगतार उस हरभजन सिंह का बेटा है, जिसको सितंबर में तरनतारन पुलिस ने हथियारों के साथ मियाणी गांव से पकड़ा था। यह पंजाब में किसी बड़ी घटना को अंजाम देने वाले थे। टांडा पुलिस स्टेशन में आज पूरा दिन जग्गा और सोनू से पूछताछ होती रही। साथ ही एटीएस की टीम हरप्रीत के पिता हरबंस सिंह को भी उठा लाई है। उससे भी टांडा पुलिस स्टेशन में पूछताछ की जा रही है। सारा दिन टांडा थाना के गेट बंद रहे। इसके बाद सोमवार रात करीब 11 बजे पुलिस ने आरोपी हरप्रीत सिंह को टांडा के चौटाला गांव से अरेस्ट कर लिया।


आरोपी पाकिस्तान के पेज के साथ जुड़ा है हरप्रीत
हरप्रीत सिंह का फेसबुक अकाउंट खंगाला गया तो वह पाकिस्तान का एक सुपर पावर पाकिस्तान नाम का पेज फोलो करता पाया गया। अब जांच एजेंसियां इस बात को भी खंगाल रही हैं कि हरप्रीत सिंह कहीं पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के सम्पर्क में तो नहीं है। यह सभी तमाम बातों का खुलासा हरप्रीत सिंह पकड़े जाने के बाद ही सामने आएगा।


जग्गा और सोनू पचमढ़ी से ट्रेन में कंबल में लपेटकर हथियार लेकर आए पंजाब
2 महीने से हरप्रीत सिंह सेना से फरार है। इस दौरान वह टांडा के पास गांव कंधाली नारंगपुर में जग्गा और सोनू से मिलता रहा। जग्गा और सोनू पोल्ट्री फार्म में काम करते हैं। एटीएस, आर्मी इंटेलीजेंस और पंजाब पुलिस को लोकेशन कंधाली नारंगपुर में मिली और पता चला कि एटीएस ने रेड डाली हैतो हरप्रीत मौजूद था। जग्गा और सोनू भी उस दिन पचमढ़ी में थे, जिस दिन हरप्रीत ने हथियार चुराए। वापसी में यह लोग ट्रेन से वापस आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.