महिला एवं बाल विकास जिला कार्यक्रम अधिकारी बिश्नोई ने किया स्वाधार गृह का अवलोकन

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

सारनी -ग्राम भारती महिला मंडल के परिवार परामर्श केंद्र और स्वाधार गृह में श्रीमान बिश्नोई जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास द्वारा दिनांक 10 दिसंबर 2019 को मानव अधिकार दिवस मनाया और स्वाधार गृह का अवलोकन किया जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास के द्वारा महिलाओं को उनके अधिकार एवं कानून के संदर्भ में आवश्यक जानकारी प्रदान की और बताया की किन.किन बिंदुओं को घरेलू हिंसा के अंतर्गत माना जाता है श्रीमती भारती अग्रवाल द्वारा समस्त महिलाओं को बताया गया की महिलाओं को परिवार की सुरक्षा एवं परवाह के साथ साथ स्वयं की सुरक्षा को सर्वोपरि मानना आवश्यक है।

मानव अधिकार दिवस से तात्पर्य प्रत्येक मानव के व्यक्तिगत अधिकार है और उन्हें इससे वंचित नहीं किया जा सकता यदि मानव के अधिकारों का हनन होगा तो वह अपने कर्तव्य और दायित्व का निर्वहन करने में सक्षम नहीं बन पाएगा इसीलिए समाज के प्रत्येक वर्ग को चाहे महिला पुरुष बच्चे दिव्यांग बुजुर्ग सभी के अधिकार हैं और उन्हें अपने अधिकार का पूर्ण उपयोग करना चाहिए मानव अधिकार का हनन मानव ही करता है इसीलिए हमें इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि हमारे द्वारा किसी के अधिकारों का हनन नहीं होना चाहिए श्रीमान विश्नोई जी द्वारा बताया गया की पत्नी कोई खरीदी हुई वस्तु नहीं है वह भी एक इंसान है और उसे बी स्वतंत्रता से जीने का हक है यदि महिला के प्रति परिवार में कोई क्रूरता मारपीट हो तो उसे सहने की बिल्कुल भी आवश्यकता नहीं है अपितु वह इसके खिलाफ आवाज उठाएं और समाज उसके साथ खड़ा होगा कार्यक्रम में नंदा सोनी, योग माया शर्मा ,हित कला विजयवाड़ ,ज्योति वागणे एवं अन्य का सहयोग रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.