शासकीय भूमि पर सड़क ठेकेदार द्वारा किये गए अतिक्रमण पर नहीं हुई कोई कार्यवाही

Scn news india

स्वामी सींग दमोह 

  • शासकीय भूमि पर सड़क ठेकेदार द्वारा किये गए अतिक्रमण पर नहीं हुई कोई कार्यवाही
  • नायब तहसीलदार के मौके पर निरीक्षण के बाद भी जारी है अतिक्रमण
  • ग्रामीणों ने लगाए ठेकेदार व नायब तहसीलदार की मिलीभगत के आरोप

हटा / दमोह ,मड़ियादो राजस्व मंडल के अंतर्गत ग्राम पंचायत पाली में शासकीय ठेकेदार द्वारा मुख्य सड़क से लगी हुई करीब 4 से 5 एकड़ सरकारी भूमि पर अवैध रूप से कब्जा किया गया है जिसमें शिकायत के बाद नायब तहसीलदार द्वारा मौके पर जाकर स्थल निरीक्षण कर अतिक्रमण होना पाया गया साथ ही पंचनामा कार्यवाही भी पूर्व में पटवारी के द्वारा की गई थी । इस सब के बाद भी राजस्व विभाग के किसी भी अधिकारी या कर्मचारी द्वारा अतिक्रमण हटाने की हिम्मत नहीं हो पाई और जिसके बाद भी दिनदहाडे ठेकेदार के द्वारा भूमि के चारों ओर तार फेंसिंग करके अवैध रूप से अतिक्रमण करना जारी है खजुराहो के ठेकेदार जगदीश पाठक द्वारा 6 पुलियों का ठेका लिया गया है.

जिसके तहत उनका सड़क से लगी हुई बेशकीमती करीब 4-5 एकड़ शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा किया गया है । अतिक्रमण के एक माह बाद भी नायब तहसीलदार के द्वारा कोई कार्यवाही न करने से ग्रामीण खासे नाराज हैं और ग्रामीणों राजेश नत्थू मुलायम हीरा दिनेश ने ठेकेदार से नायब तहसीलदार मिलीभगत के आरोप लगाये हैं। ठेकेदार के मैनेजर पवन मिश्रा द्वारा बताया गया कि लगभग 6 पुलियों के निर्माण के लिए लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत सेतु निगम में उनका टेंडर पास हो चुका है।

जिसके लिए उन्होंने इस जमीन को पाली ग्राम पंचायत के पूर्व सरपंच हरदेव यादव से किराए पर ली है । मैनेजर पवन मिश्रा द्वारा बताया गया कि पूर्व सरपंच ने इस जमीन को खुद की निजी जमीन बताकर उन्हें किराए पर दी है साथ ही उन्होंने इस पर निर्माण करने की बात को भी स्वीकारा और पानी के लिए बोर करवाने की भी बात कही । मैनेजर ने बताया कि शासकीय भूमि पर प्लांट लगाने हेतु निर्माण किया है। अब सवाल यह उठता है कि मुख्य सड़क से लगी हुई बेशकीमती शासकीय भूमि पर बिना अनुमति के कैसे अतिक्रमण कर कब्जा किया जा रहा है और इस पर उच्चाधिकारी और मडियादो राजस्व मंडल के अधिकारी चुप्पी साधे हुये हैं। राजस्व विभाग को राजस्व की हानि हो रही है।
इस संबंध में जब हमने एसडीएम राकेश मरकाम से बात की तो उनका कहना था नायब तहसीलदार द्वारा ठेकेदार को नोटिस जारी किया गया हैं और इसके आगे की कार्यवाही के लिए आप नायब तहसीलदार से बात कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.