कमीशन के चलते ठेकेदार के द्वारा कराया गया घटिया सीसी रोड का निर्माण

Scn news india

रविकांत चतुर्वेदी 

ककरहटी- ककरहटी नगर परिषद में भ्रष्टाचार की कहानी आए दिन सामने आ रही है नगर परिषद ककरहटी में जिम्मेदार अधिकारी और ठेकेदार मिलकर शासन के पेसो पर चपत लगाते दिखाई दे रहे हैं, राज्य सरकार और केंद्र सरकार भले ही भ्रष्टाचार खत्म करने के लिए दिन रात प्रयास कर रही हो लेकिन इसके बावजूद भी भ्रष्टाचार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। ठेकेदार और जिम्मेदार अधिकारी आपस में सांठगांठ करके भ्रष्टाचार करने पर उतारू हो चले हैं कार्य योजना बनाकर टेंडर निकाले जाते हैं विकास कार्य के लिए राशि जारी की जाती है फिर परसेंटेज पर मनपसंद ठेकेदार को ठेका दे दिया जाता है जिससे अधिकारियों की मिलीभगत के चलते ठेकेदार अपनी मनमर्जी पर उतारू हो जाता है और घटिया स्तर का निर्माण कार्य करवाना ठेकेदार की आदत बन जाती है ऐसा ही मामला एक बार फिर ककरहटी नगर परिषद के वार्ड नम्बर 5 मे भिंडा कोरी से प्रभू चौधरी के मकान तक सी सी रोड का निर्माण जो कि भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई। जब बरसात आयेगी तो पहली बारिश मे ही सीसी सड़क पर हुए भ्रष्टाचार के परसेंटेज के अनुसार परत दर परत खुलने लगेगी लेकिन तब तक ठेकेदार और उपयंत्री अपनी अपनी कमीशन लेकर फिर किसी भृष्टाचार की ओर चल पढेगे। अगर इसी तरह जिले मे बैठे जिम्मेदार अधिकारी अपनी आख मूदकर और मूक सहमति देते रहेंगे तो भृष्टाचार अपनी चरम सीमा मे पहुंच जायेगा। बढे बढे ठेकेदारों के द्वारा ठेका ले लिया जाता है ओर नगर के ही किसी आदमी को परसेंनटेज पर काम देकर उनहें अपनी मनमानी करने की खुली छूट दे दी जाती है जिसका परिणाम यह होता है कि घटिया स्तर का मटेरियल और गुणवत्ता विहीन कार्य किया जाता है और जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा मोनिटरिंग भी नही की जाती जिसके चलते मनमर्जी से ठेकेदार कार्य करते रहते है। ओर शासकीय पैसो का बंदरबांट चलता रहता है और प्रशासक से लेकर उच्च स्तर पर बैठे अधिकारियों के संज्ञान मे होने के बाद भी कोई ठोस कार्यवाही नहीं की जाती जिससे यह सांठगांठ का सिलसिला लगातार थमने का नाम नही ले रहा है।