बैंक शाखा प्रबंधन की बड़ी लापरवाही -अपनी बारी के इन्तजार में धुप में खड़ा बुजुर्ग मूर्छित हो कर गिरा

Scn news india

संदीप पाटनकर 

भौरा -बैतूल इटारसी नेशनल हाइवे पर स्थित आदिवासी अंचल भौरा में पंजाब नेशनल बैंक शाखा के प्रबंधक की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जिसकी वजह से आज एक बुजुर्ग की जान जाते जाते बची।  शुक्र है की आसपास के दुकानदारो ने दौड़ कर समय पर मूर्छित  पड़े बुजुर्ग को सम्हाला और सिर पर पानी डाल होश में लाया। लेकिन इतना सब हंगामा होने के बाद भी एसी  में बैठे  बैंक के जिम्मेदारों ने पीड़ित की सुध नहीं ली। मानवता के नाते हाल ही पूछ लिया होता।

बता दे कि  शाहपुर नगर के नजदीक भौरा ग्राम पंचायत के PNB(पंजाब नेशनल बैंक) शाखा भौरा है जो कि नेशनल हाईवे पर मौजूद है, और काफी वर्षो से वहीं है आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र भौरा PNB ब्रांच में कई हजारो खाते है ज्यादातर आदिवासी छोटे ग्राहक है । लगभग प्रारम्भ से ही भौरा बैंक में न तो पार्किंग और न ही ग्राहकों के बैठने,खड़े होने आदि की उचित व्यवस्थाएं रही है।

आदिवासी गरीब ग्राहक शुरू से ही लंबी लंबी लाइनों में खड़े होकर घंटो अपनी बारी का इन्तेजार करते रहे हैं हद तो अब हो गई जब लॉक डाउन के साथ गर्मी में प्रशासन की सख्ती को देखते हुए लोग धूप में गोलों के अंदर खड़े खड़े बेहोश हो रहे । ऐसी ही एक घटना बुजुर्ग के बेहोश होने से घटित हुई 60 वर्षीय ओझा इवने भी ब्रांच के बाहर बेहोश हो गए उनकी सहायता के लिए प्रशासन या बैंक के कर्मचारी नही बल्कि भौरा के नागरिक सामने आए ब्रांच के सामने स्थित मेडिकल से संचालक पराग राठौर एवं नगर कांग्रेस अध्यक्ष ओम प्रकाश ने बुजुर्ग को संभाला। आपदा की इस घड़ी में सभी संस्थानों को अपनी जिम्मेदारी निभानी चाहिए परंतु लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया जा रहा है ।