सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की एडवाइजरी (परामर्शी) समीति की बैठक संपन्न

Scn news india

शिवम् सागर 

सागर स्मार्ट सिटी द्वारा शहर विकास के अनेक मुद्दों को लेकर स्मार्ट सिटी कार्यालय में एडवाइजरी (परामर्शी) समिति की 9वी बैठक संपन्न हुई। बैठक में सांसद श्री राजबहादुर सिंह, विधायक श्री शैलेन्द्र जैन, जिला कलेक्टर सह अध्यक्ष श्री दीपक सिंह, नगर निगमायुक्त सह कार्यकारी निदेशक श्री आर पी अहिरवार, स्मार्ट सिटी सीईओ श्री राहुल सिंह राजपूत, वरिष्ठ समाजसेविका श्रीमति मीना पिंपलापुरे (वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से), श्री देवेश गर्ग, इंजी. श्री प्रकाश चौबे, श्री राजू तिवारी, श्रीमति नेहा जैन, स्मार्ट सिटी सीएस श्री रजत गुप्ता, असिस्टेंट प्लानर श्री प्रवीण चौरसिया, पीएमसी से श्री योगेश (वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से) एवं टीम लीडर श्री संजय केड़िया सहित अन्य अधिकरी शामिल हुए। उक्त सभी की उपस्थिति में वर्तमान एवं आगामी विकास कार्यों पर सर्वसम्मिति से सुझाव दिये गए।
स्मार्ट सिटी अंर्तगत प्रस्तावित प्रोजेक्ट्स में दो बेसमेंट फ्लोर एवं ग्राउंड फ्लोर सहित कुल 12 मंजिला इमारत सागर कन्वेंशन सेंटर का निर्माण करने की सैद्धांतिक स्वीकृति देते हुए इसके निर्माण पर विस्तार से चर्चा की गई। चूंकि यह सागर संभाग ही नहीं बल्कि बुन्देलखंड की भी सबसे ऊंची बिल्डिंग होगी अतः यह एक आइकॉनिक बिल्डिंग की तरह व एनर्जी इफीसियेंट ग्रीन बिल्डिंग बनाई जायेगी। इसमें दो बेसमेंट फ्लोर में कार पार्किंग एवं ग्राउंड फ्लोर पर दो-पहिया वाहन पार्किंग की सुविधा दी जायेगी। आर्ट एंड कल्चर सेंटर, सेन्ट्रल एंड डिजिटल लाइब्रेरी, बुक कैफे, ऑफिस एरिया, फूडकार्ट एवं रेस्टोरेंट, लोगों को रूकने हेतु डोरमेटरी, होटल, रिटेल काउंटरर्स हेतु दो फ्लोर पर शॉप्स का निर्माण, लगभग 700 सीट की बैठक व्यवस्था सहित ऑडीटोरियम, 100-200 सीटर अन्य छोटे सेमीनार हॉल तैयार किये जायेंगे। एक पूरे फ्लोर पर गेम्स जैसे स्क्वास, पूल, चैस, बिलियडर्स सहित अन्य इंडोर गेम्स का प्रावधान किया गया है। थियेटर, शोरूम्स सहित अन्य कमर्शियल एक्टिविटी का भी प्रावधान किया गया है। रूफटाप रेस्टोरेंट एवं प्ले एरिया का भी निर्माण किया जायेगा। बिल्डिंग में सोलर सिस्टम का प्रावधान किया गया है।
इसके साथ ही बेसमेंट एवं ग्राउंड फ्लोर सहित कुल 7 मंजिला एक अन्य बिल्डिंग का निर्माण नागरिक हेल्प सेंटर के रूप में किया जायेगा जिसमें विभिन्न विभागों के जोन कार्यालय, जनरल कान्फ्रेंस हॉल, डिपार्टमेंटल, कमर्शियल स्पेस आदि तैयार किये जायेंगे साथ ही परिषद हाल आदि का निर्माण किया जायेगा।
सांसद श्री सिंह ने नागरिक हेल्प सेंटर बिल्डिंग निर्माण पर सुझाव देते हुए कहा की सभी आवश्यक कार्य जैसें आयुष्मान कार्ड निर्माण, आधार कार्ड निर्माण, बैंक कियोस्क एवं अन्य सरकारी विभागों के जोन कार्यालय यहां व्यवस्थित स्थापित किये जाने हेतु निर्माण किया जाये। साथ ही आमजन की बैठक व्यवस्था हेतु वेटिंग हॉल आदि की व्यवस्था की जाये। इसके साथ ही शहर के मुख्य क्षेत्र कटरा में साबूलाल मार्केट, निगम मार्केट, बक्सीखाना जैसे अन्य को भी डेवलप करने की योजना तैयार करें।
विधायक श्री जैन ने चल रहे प्रोजेक्टस एवं प्रस्तावित प्रोजेक्ट्स पर चर्चा कर सुझाव देते हुए कहा कि अटल पार्क में बुंदेलखड के इतिहास पर आधारित लाइटिंग व म्यूजिकल शो का जो कार्य कराया जा रहा है उसमें सागर के पुराने इतिहास सहित सागर के निर्माण से लेकर वर्तमान सागर तक की स्टोरी भी प्रस्तुत की जाये साथ ही त्योहारों आदि पर अलग-अलग प्रस्तुतियां दी जा सकें इस हेतु विभिन्न थीम्स पर कार्य करें। हेरीटेज कंजर्वेसन प्रोजेक्ट अंतर्गत चमेली चैक अस्पताल को भी लिया जाये। विभिन्न मुक्तिधामों में किये जाने वाले कार्यों के साथ ही यहां शांतिपाठ एवं अन्य मंत्रोच्चार हेतु साउंड सिस्टम भी लगाये जाना चाहिए इसके साथ ही कब्रिस्तान व क्रिश्चियनों हेतु बने ऐसे स्थानों के पुनर्विकास की योजना भी तैयार करें। सिटी फॉरेस्ट में रेस्टोरेंट, टायलेट्स, ओपन जिम जैसी अन्य सुविधाएं भी विकसित की जाना चाहिए। जिससे शहर के नागरिकों को सुविधा मिले।
जिला कलेक्टर श्री सिंह ने कहा की संभाग में सबसे ऊंची ऐसी ग्रीन बिल्डिंग सागर कन्वेंशन सेंटर का निर्माण आदि अन्य महत्वपूर्ण परियोजनाओं के पूर्ण होने के बाद सागर की जो स्मार्ट शहर की परिकल्पना है वह पूर्ण हो सकेगी। यहां के नागरिकों को विशेष  सुविधाओं सहित बेहतर व व्यवस्थित इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान करना ही सागर स्मार्ट सिटी लिमिटेड की प्राथमिकता है। स्मार्ट सिटी द्वारा लिये गये प्रत्येक प्रोजेक्ट में भूमि विकास निगम अनुसार पार्किंग की सुविधा का विशेष ध्यान रख आगामी समय में इसकी मांग को देखते हुए ही निर्माण के साथ पार्किंग एरिया का प्रावधान करें। स्मार्ट आंगनवाड़ी प्रोजेक्ट बहुत ही महत्वपूर्ण है इसके लिए जिस मोहल्ले, वस्ती या गांव आदि हेतु आंगनवाड़ी है वही स्थल चिन्हित कर स्मार्ट आंगनवाड़ी का निर्माण करें। इसके लिए प्राइमरी स्कूलों के पास भी व्यवस्था की जा सकती है। ताकी उनमें आने वाले गरीब एवं दिव्यांग आदि बच्चों को नजदीक में ही सुविधाएं दी जा सकें। शहर में इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के साथ ही सोशल डेवलपमेंट का कार्य भी किया जाये जो कि स्मार्ट सिटी मिशन अंतर्गत नागरिकों के जीवन स्तर सुधार में मुख्यतः शामिल है। जिससे शहर के कमजोर व उपेक्षित नागरिकों को भी सुविधाएं प्रदान कर उनका जीवन स्तर बेहतर बनाया जा सके।

इन बिन्दूओं पर सर्वसम्मिति से हुए निर्णय –

  • – सागर कन्वेंशन सेंटर के प्रस्तुत डीपीआर प्रजेंटेशन अंतर्गत बिल्डिंग का निर्माण किया जाये।
  • – आई टी आधारित स्मार्ट आंगनवाड़ियों का निर्माण संबंधित मोहल्लों या गांव में ही किया जाये।
  • – हेरीटेज कंजर्वेशन प्रोजेक्ट अंतर्गत एआईएस स्टेट म्यूजियम, पदमाकर स्कूल के पास छतरीयों, चमेली चैक  अस्पताल सहित अन्य एतिहासिक इमारतों का डेवलपमेंट किया जाये।
  • – अटल पार्क से संजय ड्राइव रोड को जोड़ने वाला ग्लास ब्रिज तैयार किया जाये साथ ही इस पर सुंदर लाइटिंग व साउंड सिस्टम भी लगाये जायें व पर्यटन की दृष्टि से तैयार किया जाये।
  • – अटल पार्क में डायनामिक लाइटिंग व साउंड शो करानें के साथ ही नागरिकों को बैठने की व्यवस्था भी की जाये।
  • – नरयावली नाका मुक्तिधाम की तर्ज पर शहर के अन्य मुक्तिधामों का भी डेवलपमेंट किया जाये जिसमें यहां सुन्दर पार्क, नागरिकों के बैठने की व्यवस्था पेयजल, नहाने आदि की व्यवस्था, प्रार्थना सभा कक्ष आदि का निर्माण हो।

इसके साथ ही शहर में आवश्यक स्थलों पर एलीवेटेड कॉरीडोर, स्मार्ट रोड के निर्माण, इंटीग्रेटेड बस टर्मिनल निर्माण, ग्राउंड मोल्ड सोलर सिस्टम निर्माण, तहसील क्षेत्र में एकीकृत कार्यालय हेतु डेवलपमेंट एवं स्मार्ट सिटी पेन एरिया अंतर्गत केंट एरिया व मकरोनिया में विकास कार्यों आदि पर विस्तार से चर्चा की गई।