मर्चुरी रूम में हुए अंधे कत्ल का पर्दाफाश, लूट कर हत्या करने का मामला पाया गया

Scn news india

हर्षिता वंत्रप 

सीहोर – सरकारी अस्पताल नसरूल्लागंज के निर्माणाधीन मर्चूरी रूम में एक अज्ञात पुरूष उम्र करीबन 45 साल का शव सडी गली अवस्था में के  मामले में पुलिस से अंधे क़त्ल का पर्दाफाश करते हुए खुलासा किया है।  शर्ट पीएम रिपोर्ट में अज्ञात मृतक की गला रेत कर हत्या करने की रिपोर्ट आने से के बाद  पुलिस ने  धारा 302,201 भादवि का अपराध पंजीवद्ध कर विवेचना में लिया गया  था ।
पुलिस अधीक्षक सीहोर ने तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण कर थाना प्रभारी नसरूल्लागंज को आवश्यक दिशानिर्देश दिये एवं लगातार मामले की मांनिटरिंग की , तथा मामले में अज्ञात म़तक की शिनाख्‍त एवं आरोपियों की पतारसी हेतु एक पांच सदस्‍यीय पुलिस टीम का गठन किया गया एवं अज्ञात आरोपी व अज्ञात मृतक की पतारसी हेतु 5000/- रूपये के ईनाम की उद्धोषणा की गई ।
मामले में वैज्ञानिक तकनीकी एवं अन्‍य माध्‍यमों से अस्पताल रिकार्ड के अनुसार 28.05.21 के पूर्व अस्पताल में भर्ती हूए मरीजो की सूचि प्राप्त कर प्रत्येक मरीज की पतारसी गोपनीय रूप से जारी रखी गयी । उक्त मरीजो में से एक मरीज ऐसा पाया गया जो कस्बा नसरूल्लागंज एवं आसपास के स्थानो पर नही मिला उक्त मरीज की ओपीडी पर्ची प्राप्त की जिसमे भर्ती होने का समय तो था किन्तु डिस्चार्ज होने का समय लेख नही था जिसके सबंध में अस्पताल स्टाफ से चर्चा की गयी जिन्होने दिनांक 22.05.21 को 108 एम्बूलेंस से एक व्यक्ति का भर्ती होना बताया किन्तु मरीज का बिना बताये अस्पताल से बेड छोड कर जाना बताया । जांच में उक्त अज्ञात मृतक कि शिनाख्त रूझनखेडी और सीहोर नाके के बीच मांग कर खाने वाले रंगा उर्फ घूमा पिता हरनाथ झारिया निवासी जोगला हाल निवासी रूझनखेडी के रूप में की गयी । मृतक के परिजनो को ग्राम पटरानी जिला देवास से लाया गया एवं शिनाख्त करायी गयी ।
विवेचना के दौरान जानकारी प्राप्त हुई की मामले के मृतक रंगा उर्फ घूमा के पास काफी चिल्लर व नोट थे ,उक्त दिनांक को ही एक अन्‍य व्यक्ति भी इलाज के लिये अस्पताल में भर्ती हुआ था जिसके व्दारा मृतक के पास रखे पैसे पर नजर रखी हूई थी दिनांक 24.05.21 के सुबह करीबन 03.00- 3.30 बजे अपने एक अन्‍य साथी ने रंगा उर्फ घूमा को अस्पताल केम्पस में घूमते हुए देखा जिसे वह दोनो अस्पताल के पीछे निर्माणाधीन मर्चूरी रूम में ले गये मृतक के पास रखे पैसे मारपीट कर छीन लिये मृतक के द्वारा पैसे वापस मांगे गये तो एक आरोपी ने मृतक के बाल पकडे और दूसरे आरोपी ने अपनी जेब से चाकू निकाला और मृतक का गला रेत कर हत्या कर दी । दोनो आरोपी के द्वारा मृतक के पास रखे पैसे आपस में बांट लिये कुछ पैसे शराब पीने में खत्म कर दिये एवं कुछ पैसे जो बचे थे वो पुलिस ने जप्त कर लिये । मामला लूट एवं हत्या का पाया गया । मामले के दोनो आरोपीगण को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया गया ।
उक्त सम्पूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी निरीक्षक (क) कंचनसिह ठाकुर , सउनि(क) नवतेश राजपूत, सउनि (क)जयनारायण शर्मा , आरक्षक 547 आनंद गुर्जर , आर. 241 दीपक चौहान , आर. 439 राजीव , आर. 741 संजय राजपूत , व.आर.647 जितेन्द्र यादव , प्र.आर.(क) अशोक पटेल, प्रआर क. योगेश भावसार की विशेष भूमिका रही ।