हीरों की बड़ी लूट की वारदात का पुलिस ने किया खुलासा-4 असली -250 नग नकली हीरे व् दो देशी कट्टे बरामद

Scn news india

अलकेश साहू 

बैतूल-सप्ताह पूर्व छिंदवाड़ा के एक सराफा व्यापारी से हमलापुर क्षेत्र में हुई बड़ी लूट की वारदात का  पुलिस ने आज खुलासा किया है ।  मामले में पुलिस ने 2 नाबालिगों समेत आठ लोगो को आरोपी बनाया है जिनके पास से बड़ी मात्रा में उच्च क्वालिटी के हीरे ओर दो पिस्टल बरामद की है । इधर एक पीड़ित के परिवार ने पुलिस पर बेटे को झूठा फंसाने  का आरोप लगाया है ,वहीँ  इस पूरे घटनाक्रम में पुलिस जांच पर सवाल उठ रहे हैं क्योंकि जिस व्यापारी कोने शिकायत की है उसके पास भी  हीरे का कारोबार करने का कोई कानूनी दस्तावेज थे भी या नहीं है. और वो इतने कीमती हीरे  ले कर कहाँ से आया।  बैतूल के  सराफा व्यापारी अरुण गोठी के अनुसार मामले में व्यापारी की भूमिका की भी जांच ज़रूरी है ।

पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक सिमाला प्रसाद ने पत्रकारों  को बताया कि विगत 4 दिन पहले हमलापुर क्षेत्र में छिंदवाड़ा के सराफा व्यापारी के साथ लूट की घटना हुई थी । इस घटना के बाद एसटीएफ के गठन किया गया था । पुलिस अधीक्षक के मुताबिक फरियादी प्रिन्स सोनी पिता गजेन्द्र सोनी उम्र 25 साल निवासी छिन्दवाड़ा के साथ दिनांक – 31-5-21 को लूट की घटना हुई थी , जिसमें ढाई लाख रुपए एवं 5 नग हरि करीबन दो लाख पचास हजार रुपए के अज्ञात आरोपियों द्वारा हमलापुर के आगे पुलिया के पास आमला रोड पर घटना कारित की गई थी , जिसकी रिपोर्ट फरियादी प्रिन्स सोनी द्वारा थाना गंज में दिनांक – 1-6-2021 को की गई जिस पर अपराध क्रमांक -200 / 2021 धारा 392 भादवि का अज्ञात आरोपियों के विरुद्ध पंजीबद्ध किया गया । घटना की गंभीरता देखते हुए पुलिस अधीक्षक द्वारा टीम का गठन किया गया , आपराधिक रिकाडौं को चेक किया तब संदेही करण पिता शांतिलाल झारखण्डे को पुलिस अभिरक्षा में लेकर बारिकी से पूछताछ की गई तो उसके द्वारा अपने साथियों पिन्टू नागले निवासी हमलापुर शुभम गायकवाड़ निवासी माझीनगर हमलापुर , रितिक चन्द्रहास  कालापाठा , पंकज कडवे निवासी हमलापुर एवं रोहित मरकाम निवासी दुर्गावार्ड बैतूल तथा दो विधि विरुद्ध बालकों के साथ मिलकर घटना कारित करना बताया गया तथा आरोपियों के कब्जे से पाँच असली हीरे एवं 250 नग नकली हीरे तथा दो देशी कट्टे दो जिंदा कारतूस एवं 15000 रुपए नगदी एवं फरियादी के कागजातों को जब्त किया गया एवं प्रकरण में धारा 395 भादवि इजाफा किया गया । उन्होंने घटना की जानकारी देते हुए बताया आम्र्स एक्ट का आरोपियों द्वारा फरियादी को कम पैसे में हार दिलाने का कहकर उस अपने जाल में फंसाया और फिर उसे असली हीरे देकर विश्वास में लेकर दूसरी बार नकली हीरे देकर कट्टा अड़ाकर हीरे एवं पैसे छुड़ा कर भाग गए , आरोपियों के द्वारा नकली हीरे दवाई वाले केपसूलों के अन्दर भरकर इनका परिवहन करते थे , ताकि मौके पर पूछताछ होने पर पकड़ाई में न आ सकें । आरोपियों के द्वारा नकली हीरों को असली बताकर प्रत्येक हीरों को बेचकर 2 करोड़ पचास लाख रुपए कमाने की योजना बनाई थी ।

आरोपियों के पास से  पाँच नग असली हीरे , 250 नग नकली हीरे , दो देशी कट्टे दो जिन्दा दो जोड चांदी की पायल , तीन जोड़ बिछिया . पन्द्राह हजार रुपए नगदी कुल मशरुका 55 लाख रुपए बरामद हुए है।

मामले में  करण पिता शातिलाल झारखण्डे निवासी आमडोह थाना साईखेड़ा . 02- पिन्टू पिता रामप्रसाद नागले निवासी हमलापुर , 03- शुभम पिता शिवाजी गायकवाड़ निवासी हमलापुर , 04 – रितिक पिता योगेश चन्द्रहास निवासी कालापाठा .  05- पंकज पिता पप्पू कडवे निवासी हमलापुर ,  06- रोहित पिता रमेश मरकाम निवासी दुर्गावाड बेतूल , 07- दो नाबालिक  बालक निवासी बैतूल को पुलिस ने आरोपी बनाया है।