छात्रों की सुरक्षा एवं भविष्य का विचार करके ही 12वीं क्लास की परीक्षा का निर्णय ले सरकार

Scn news india

संवादाता सुनील यादव मुड़वारा कटनी

कटनी – अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कटनी द्वारा अपर कलेक्टर को स्कूली मंत्री मध्यप्रदेश शासन इंदर सिंह परमार के नाम ज्ञापन सौंपा। सौंपे ज्ञापन में अभाविप ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते हमारी शैक्षणिक पठन-पाठन की व्यवस्था परीक्षा परिणाम यह सब कुछ प्रभावित हुआ है जिससे विद्यार्थियों का काफी शैक्षणिक नुकसान हो चुका है आज कोविड महामारी में छात्र भी अपने भविष्य को लेकर चिंतित हैं। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का मानना है कि कोरोना परिस्थिति के कारण टली गई 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के आयोजन पर राज्य सरकार को विद्यार्थी के सुरक्षा एवं भविष्य को ध्यान में रखते हुए निर्णय करने की आवश्यकता है व्यवसायिक पाठ्यक्रम तथा प्रदेश के अधिकतर विश्वविद्यालयों में स्थानक कक्षाओं में प्रवेश मेरिट लिस्ट के आधार पर होता है ऐसे में 12वीं कक्षा के विद्यार्थी का मूल्यांकन महत्वपूर्ण है। जिला संयोजक सिप्तेन रज़ा ने कहा कि विद्यार्थी परिषद सरकार से मांग करती है कि वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए सरकार का नवीन प्रयोगों जैसे काम समयावाधी की परीक्षा प्रमुख विषयों की परीक्षा ओपन बुक परीक्षा आदि के माध्यम से परीक्षा का आयोजन शारीरिक दूरी का पालन कर आगामी जुलाई-अगस्त में करा जा सकती है विद्यार्थी परिषद का स्पष्ट मत है कि राज्य सरकार जल्दबाजी ना दिखाते हुए विद्यार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखकर निर्णय कर ले जिस तरह से कोरोना के मामले कम हो रहे हैं ऐसी स्थिति में निकट माह जुलाई-अगस्त में शारीरिक दूरी का पालन कर कम समय काल में परीक्षा का आयोजन हो जा सकता है विद्यार्थी परीक्षा राज्य सरकार से मांग करती है विद्यार्थियों की सुरक्षा स्वास्थ्य एवं शैक्षणिक भविष्य को ध्यान में रखकर न्यायोचित निर्णय करना चाहिए जिससे भविष्य में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना विद्यार्थियों को ना करना पड़े।