प्रदेश के जिलों में संक्रमण की स्थिति

Scn news india

मनोहर

भोपाल -प्रदेश में कोरोना संक्रमण पूर्ण रूप से समाप्ति की ओर है। प्रदेश के 49 जिलों में 7 दिनों की औसत पॉजिटिविटी 5% से कम हो गई है तथा 17 जिलों में 1% से भी कम हो गई है।

तीन जिलों में 50 से अधिक नए प्रकरण

प्रदेश में तीन जिलों इंदौर में कोरोना के 391, भोपाल में 245, तथा जबलपुर में 77 नए प्रकरण आए हैं। इंदौर की साप्ताहिक पाजिटिविटी 6.4%, भोपाल की 5.2% तथा सागर की 5% है।

17 जिलों की साप्ताहिक पॉजिटिविटी 1% से कम

प्रदेश के सतना, नरसिंहपुर, छतरपुर, गुना, बड़वानी, हरदा, कटनी, छिंदवाड़ा, शाजापुर, सिंगरौली, डिंडौरी, झाबुआ, मंडला, भिंड, आगर-मालवा, बुरहानपुर तथा खंडवा जिलों की साप्ताहिक पॉजिटिविटी 1% से कम है।

33 जिलों की साप्ताहिक पॉजिटिविटी 5% तक

प्रदेश के 33 जिलों सागर, अनूपपुर, नीमच,रतलाम, दमोह, बैतूल, श्योपुर, मुरैना, धार, ग्वालियर, सीधी, खरगोन, मंदसौर, रीवा, जबलपुर, सिवनी, रायसेन, राजगढ़, सीहोर, होशंगाबाद, बालाघाट, निवाड़ी, शिवपुरी, पन्ना, उज्जैन, विदिशा, शहडोल, देवास, अशोकनगर, उमरिया, दतिया, टीकमगढ़ तथा अलीराजपुर की साप्ताहिक पाजिटिविटी 5% तक है।

नए प्रकरण 1205

प्रदेश में कोराना के 1205 नए प्रकरण आए हैं, 5023 मरीज स्वस्थ हुए हैं तथा 23 हजार 390 एक्टिव प्रकरण हैं। प्रदेश की 7 दिनों की पॉजिटिविटी रेट 2.5%है तथा आज की पॉजिटिविटी 1.6% है। देश में कोराना प्रकरणों में मध्यप्रदेश का योगदान न्यूनतम 1.1% रहा है।

ब्लैक फंगस के इलाज की श्रेष्ठ व्यवस्था

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि प्रदेश में ब्लैक  फंगस के इलाज की श्रेष्ठ व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इंजेक्शन व दवाइयाँ समय पर मिल जाएँ। प्रदेश में 1001 ब्लैक फंगस के मरीज हैं। इनका इलाज 5 शासकीय मेडिकल कॉलेज एवं 57 निजी अस्पतालों में किया जा रहा है।