बिग ब्रेकिंग न्यूज़ बैतूल में फर्जी डिग्री बनाकर स्वास्थ विभाग में स्थाई रुप से कोविड -19 में नौकरीयाँ दिलाने के फर्जीवाड़े का खुलासा

Scn news india

 

आशुतोष त्रिवेदी 

बैतूल-बैतूल पुलिस को  फर्जी डिग्री बनाकर स्वास्थ विभाग में स्थाई रुप से कोविड -19 में नौकरीयाँ दिलाने के फर्जीवाड़े का खुलासा करने में बड़ी सफलता मिली है । थाना कोतवाली बैतूल के अपराध क्र : – 346/2021 धारा 420 , 34 भादवि में फरियादी सुरेन्द्र पिता गेन्दालाल बनखेड़े निवासी अम्बेडकर वार्ड बैतूल को स्थाई रुप से स्वास्थ विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर 1,50000 / – रुपए लेकर अस्थाई नौकरी 31/5/2021 तक का आदेश देने वाले गिरोह का पर्दाफाश करने में सफलता प्राप्त की गई । 1 / घटना का विवरण दिनांक- 20/4/2021 को आवेदक सुरेन्द्र बनखेड़े निवासी बैतूल के द्वारा आवेदन दिया कि अनिल पवैया उर्फ फूफा निवासी भिण्ड , संदीप सोनी निवासी मुलताई व अन्य साथियों के द्वारा स्वास्थ्य विभाग में स्थाई रुप से नौकरी दिलाने का झासा देकर 1,50,000 / – रुपए में भर्ती कराने की बात थी , जिस पर आवेदक सुरेन्द्र के द्वारा नगदी एवं अकाऊण्ट ट्रांसफर के माध्यम से पैसे दिए गए एवं भर्ती से सम्बंधित फार्म में आधार कार्ड , जाति प्रमाण पत्र , स्थाई निवासी , 10-12 की अंक सूची , दिए थे । अन्य कोई दस्तावेज नही दिए थे परन्तु नियुक्ति आदेश मिलने पर आवेदक सुरेन्द्र बनखेड़े को पता चला कि उसकी नौकरी पर्मानेन्ट न होकर सिर्फ 31/5/2021 तक कोविड -19 की ड्यूटी के लिए ही है व उसे लैब टेक्निशियन के पद पर नौकरी दि गई है जिस पर पद पर उसके पास कोई शैक्षणिक योग्यता नहीं थी । आवेदन पत्र पर थाना कोतवाली बैतूल में अपराध धारा 420 , 34 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया । // विवेचना की कार्यवाही // प्रकरण में दिनांक- 23// 4 / 2021 को आरोपी- अनिल उर्फ फूफा पवैया , संदीप सोनी व शैलेन्द्र बनखेड़े को काका ढाबा बैतूल से हिरासत में लेकर पूछताछ की गई जिस पर से आरोपिगणों के द्वारा बताया गया कि स्वास्थ्य विभाग में नियुक्तियाँ निकलने पर इनके द्वारा उम्मीदवारों से सम्पर्क किया जाता था व उनको आवेदन फार्म उपलब्ध कराने हेतु उनके दस्तावेज प्राप्त करते व उनके फिंगर प्रिन्ट प्राप्त कर उनकी जिन पदों के लिए नियुक्ति करनी होती थी उन पदों के लिए फर्जी डिग्री बनवाते थे व उम्मीदवारों से दो से ढाई लाख रुपए में चयन करने की बात करते थे , व जो लोग पैसा आरोपिगणों के खाते में जमा करवाते थे व नगदी देते थे उनका आरोपिगण चयन करवाते थे । विवेचना के दौरान उम्मीदवारों के आवेदन पत्र व आवेदन पत्र में संलग्न दस्तावेज जप्त किए गए है , आरोपियों से उनके अकाऊन्ट नबंर प्राप्त कर उनके अकाऊन्ट में आई हुई राशि का ब्यौरा प्राप्त किया जा रहा है । नाम गिरफ्तार आरोपी : 01 – अनिल उर्फ पवैया पिता राधाकृष्ण । पवैया उम्र 25 साल निवासी बमनपुरा जिला भिण्ड हाल भोपाल 02 – संदीप सोनी पिता बंसत सोनी उम्र 33 साल निवासी अम्बेडकर वार्ड मुलताई जिला बैतूल 03 – शैलेन्द्र बनखेड़े पिता गेन्दलाल बनखेड़े उम्र 35 साल निवासी अम्बेडकर वार्ड मुलताई जिला बैतूल कार्यप्रणाली : आरोपिगण के द्वारा स्वास्थ्य विभाग में स्थाई रुप से भर्ती के नाम दो से ढाई लाख रुपए में चयन की बात होती थी व उम्मीदवारों को फॉर्म उपलब्ध कराकर उनसे उनके शैक्षणिक दस्तावेज व अन्य आवश्यक दस्तावेज लिए जाते थे , आरोपिगणों के द्वारा बैतूल जिले में निकली भर्ती के लिए कुल 130 उम्मीदवारों से सम्पर्क कर उनके फॉर्म भरवाए गए तथा जिन 30 उम्मीदवारों ने आरोपिगणों ने पैसा दिया उनका उन्होनें बैतूल जिले की भर्ती में चयन करवाया इन 30 उम्मीदवारो .. ..के द्वारा उनकी नियुक्ति स्थल पर ज्वाइनिंग कर ली गई है । आरोपिगणों द्वारा बैतूल के अलावा जिला सिहोर की भी स्वास्थ्य विभाग की भर्ती में उम्मीदवारों का चयन करवा कर मोटी रकम वसूल की गई है । आरोपिगण के खाते सरसरी जाँच करने पर एक वर्ष में एक करोड़ पाँच लाख रुपए का ट्रासंजेक्शन होना पाया गया है ।