बड़ी खबर  – चार मजदूरों के मकानों में लगीं भीषण आग,में गृहस्थी हुई खाक, आग में लाखों का नुकसान

Scn news india

भैंसदेही से आशुतोष त्रिवेदी की रिपोर्ट 

भैंसदेही-  भैंसदेही जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत खामला में बीती रात चार मकानों में भीषण आग लग जाने से घर में रखा हुआ सारा सामान जल कर खाक  हो  गया है। जिसके बाद ग्रामीणों और फायर ब्रिगेड की मदद से आग को बुझाया गया। लेकिन शासन प्रशासन द्वारा अभी तक पीड़ित परिवार के लोगों को किसी भी प्रकार की कोई मदद नहीं की गई है।  सुचना पर  जिला पंचायत के अध्यक्ष सूरजलाल जावरकर ने पीड़ित परिवार से मिलकर शासन प्रशासन से जल्द ही पीड़ित परिवार को मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है। लेकिन देखना होगा शासन प्रशासन द्वारा कब तक इन पीड़ित परिवारों को मुआवजा मिल पाता है। तो वही आगजनी की इस घटना से 50 से ज्यादा मुर्गी मुर्गे पूरी तरह से जलकर खाक हो गए तो वही पीडित परिवार में सोना चांदी के जेवर, अनाज कपड़े सहित सारा सामान इस आग की लपेट में जलकर खाक हो चुका है। खाने के लिए अनाज भी नहीं बचा। एक गाय भी इस आगजनी में झुलस गई।

पीड़ित परिवार की महिला सरिता का कहना है कि वह मजदूरी करने महाराष्ट्र जाती है और उसका पति भी नही है वह विधवा है जैसे तैसे मजदूरी कर अपने परिवार का गुजारा करती है और महाराष्ट्र में लॉकडाउन लग जाने के कारण उसे घर वापस आना पड़ा और वहां लगभग 7 से 8 बोरी गेंहू लेकर अपने घर आई थी ताकि अपने बच्चों के साथ खुद का भी गुजारा कर सके वहीं पीड़िता सरिता का रो रो कर बुरा हाल भी है और उसने कहा कि अब हमें शासन प्रशासन से ही उम्मीद है कि वह हमें मुआवजा और सुविधा उपलब्ध कराएं पीड़िता ने बताया कि उसके घर में मंगलसूत्र पायल खाने का सामान कपड़े एवं नगदी पैसे भी पूरी तरह जल गए है।

भाजपा नेता पूर्व जनपद सदस्य रामू बेले ने कंहा की रात में 1:00 बजे कि यह घटना है जब खामला में निवास करने वाले मजदूर के परिवार में अचानक आग लग जाने के कारण चार मकान पूरी तरह जलकर खाक हो चुके है। हमने तत्काल फायर ब्रिगेड एवं ग्रामीणों की मदद से आग को बुझाने का कार्य किया है साथ ही अब हम इन 4 परिवारों को विधायक और सांसद से बातचीत कर पीड़ित परिवार को मुआवजा देने की मांग भी तत्काल ही जनप्रतिनिधियों से करेंगे ताकि पीड़ित परिवार को हर संभव मदद हो सके।

आगजनी की घटना के बाद राजस्व विभाग के पटवारी महेश मालवीय के द्वारा पूरे घटनाक्रम की जानकारी इकट्ठा की गई और उन्होंने कहा कि आगजनी के कारण अज्ञात है कैसे आग लगी इसका अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन आग चार मकानों में लगी है जिसमें परिवार में खाने पीने का सामान सोना चांदी के जेवरात के साथ 50 से 60 मुर्गी एवं मुर्गा पूरी तरह जलकर खाक हो चुके है। वंही हमने मौके पर पंचनामा बनाकर आरबीसी 6/4 के नियम के तहत जो भी सहायता राशि शासन द्वारा इन्हें जल्द ही दी जाएंगी।