फैली अनियमितताओं ,अवस्थाओं को लेकर किसान सभा ने साइलो सेंटर पर दागे प्रश्न

Scn news india

नंदकिशोर लोधी
बाकल

व्यवस्थाओं को दुरुस्त कराने प्रशासन से लगाई गुहार किसान हो रहे जमकर परेशान

बाकल – थाना बाकल से महज 5 किलोमीटर दूर स्थित पटोरी तिराहा में बने कटनी जिले के पहले सायलो सेंटर मैं आज जिला इकाई कटनी बहोरीबंद से किसान सभा के नेता विजय पटेल जायजा लेने के लिए पहुंचे साइलो सेंटर पहुंचे जहां उन्होंने देखा कि यहां पूरी तरह से किसान परेशान हैं व्यवस्थाएं पूरी तरह से बदतर हो चुकी हैं 20 दिन हो गए लेकिन अभी तक कुछ सुधार नहीं हुआ उनके साथ कई किसान मौजूद रहे जिन्होंने प्रशासन से और जिम्मेदार अधिकारियों से गुहार लगाई मीडिया के सामने की यहां व्यवस्थाओं को जल्द से जल्द दुरुस्त किया जाए ताकि किसान किसी भी तरह से परेशान ना हो और अपना उपार्जन करा सके

1- साइलो सेंटर के बाहर नहीं है किसी तरह का बोर्ड
उन्होंने कहा कि पटोरी स्थित साइलो सेंटर में बाहर किसी भी तरह का कोई बोर्ड नहीं लगाया गया है क्यों नहीं लगाया गया किसानों को कैसे मालूम होगा कैसे पता चलेगा कि यही साइलो सेंटर है यह हम प्रशासन और जिम्मेदार अधिकारियों से सवाल करते हैं आज हम एक किराने की दुकान भी खोलते हैं तो उसके बाहर एक बोर्ड लगाते हैं लेकिन यहां किसी भी तरह का कोई बोर्ड नहीं लगा यह साइलो सेंटर है या फिर किसी तरह की खदान

2- कितनी समितियों कितने खरीदी केंद्रों की खरीदी कर रहा है साइलो किसानों को नहीं किसी प्रकार की जानकारी
यहां किसानों को अंधेरे में रखा जा रहा है किसी भी तरह कि यहां गाइडलाइन नहीं है कितनी समितियों कितनी खरीदी केंद्रों का उपार्जन होना है और कुल खरीदी केंद्रों में कितने गांव आते हैं यहां किसी भी प्रकार की गाइडलाइन किसानों को बताई नहीं गई है ना ही किसी प्रकार से दर्शाया गया है यह किसानों को नहीं ले में रखना कहां तक सही है यह सवाल है जिसे जल्द से जल्द सही करना होगा

3 -सुबह दिन से लेकर रात को 12:00 बजे तक होता है उपार्जन भूखे बिलखते किसान दिनभर होते हैं परेशान
जैसे ही समितियों द्वारा किसानों को मैसेज प्राप्त होता है वैसे ही किसान किराए की ट्रॉली कर गेहूं को लोड कर उपार्जन के लिए साइलो लेकर जाता है लेकिन वहां पहुंचते ही लाइन लग जाती है ऐसी भीषण गर्मी तपती धूप में किसान भूखा प्यासा अपने ट्रैक्टर पर ही बैठा रहता है अपनी बारी का इंतजार करते हुए यह कहां तक सही है कब तक ऐसे लाइन लगाता रहेगा किसान आखिर क्यों किसानों को दिनभर लाइन में खड़ा रहना पड़ता है और रात 12:00 बजे तक कहां का नियम है उपार्जन करने का कहने में बहुत अच्छा लगता है कि उपार्जन 5 मिनट में हो जाएगा 300 ट्रॉली का दिन भर में उपार्जन होगा लेकिन धरातल पर किसान बहुत ज्यादा परेशान है

4- साइलो सेंटर के अंदर यदि कोई विसंगति या अनियमितता होगी तो कौन होगा इसका जिम्मेदार
साइलो सेंटर में दिन भर में 200 से ढाई सौ ट्रैक्टर गेहूं उपार्जन कराने के लिए यहां आते हैं लेकिन यदि उनके साथ कोई विसंगति होती है कोई अनियमितता कोई घटना घटती है तो उसका जिम्मेदार कौन होगा यहां किसी प्रकार की कोई हेल्प लाइन नहीं है किसान रात में 1:00 बजे 2:00 बजे तक उपार्जन करवाता है यदि उसके साथ कोई घटना घटित हुई तो उसका जिम्मेदार किसे माना जाएगा यह सवाल है जिम्मेदार अधिकारियों और जिम्मेदार प्रशासन से जिसका जवाब देना होगा

5-भुगतान की अवधि क्या रहेगी कितने दिनों में किसानों के खाते में पैसा आएगा जानकारी से वंचित किसान
किसानों के गेहूं उपार्जन के बाद जब उसे तोल पर्ची दी जाती है उसके बाद ऑपरेटर द्वारा पोर्टल में उसकी खरीदी चढ़ा दी जाती हैं लेकिन इससे दूबर रखा जाता है कि किसान के खाते में कब पैसा आएगा इंतजार में ही बैठा बैठा मर रहा किसान खातों में नहीं हो रहा भुगतान आखिर यह सवाल भी जिम्मेदार अधिकारियों से हैं कि कितने दिनों के बाद कितने दिन की अवधि में किसानों को उनके गेहूं उपार्जन का भुगतान किया जाएगा।

6- कौन चला रहा साइलो किसकी है जिम्मेदारी खरीदने वाली कंपनी का नाम क्या है इस जानकारी से भी किसानों को रखा गया बंचित
साइलो सेंटर की शुरुआत तो हो गई है लेकिन किसानों को अभी तक यह बताया नहीं गया कि इसका मालिक कौन है कौन उनकी खरीदी कर रहा है किसी को भी जानकारी नहीं दी गई क्या यह खरीदी सरकार कर रही है यह प्राइवेट कंपनी लेकिन क्यों नहीं बताया गया अभी तक क्यों नहीं दी जा रही जानकारियां कहीं कुछ गड़बड़ तो नहीं लेकिन जिम्मेदार खाद्य आपूर्ति विभाग को इसकी जानकारी मुहैया करानी होगी किसानों को वह भी व्यवस्थित रूप से बोर्ड लगाकर।

7-साइलो के एफसीआई से क्या संबंध है जानकारी से अछूते किसान
पहले किसानों की खरीदी एफसीआई द्वारा खरीदी केंद्रों में की जाती थी लेकिन अब कौन कर रहा है और खरीदी करने वाले से एफसीआई के साथ क्या संबंध है इस जानकारी से भी किसानों को वंचित रखा गया है आखिर किसानों को क्यों नहीं दी जा रही है सही जानकारियां कहीं साइलो सेंटर बड़ा घोटाला करने वाला तो नहीं किसान सभा के नेता विजय पटेल ने जमकर दागे प्रश्न कहा जानकारियां नहीं मिली तो होगा आंदोलन

8-जल्द से जल्द व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं की गई तो किसान सभा करेगी आंदोलन
किसान नेता विजय पटेल ने कहा कि जो लोग भी इस सेंटर को चला रहे हैं उनके द्वारा इन सभी व्यवस्थाओं को सुधार किया जाए वह भी जल्द से जल्द को किसी भी प्रकार की जानकारी से वंचित नहीं रखा जाए और यदि ऐसा ही है तो जिला इकाई कटनी की बहोरीबंद किसान सभा इसका पुरजोर विरोध एवं आंदोलन करने के लिए बाध्य होगी जिम्मेदार अधिकारियों को प्रशासन को समझना चाहिए आखिर क्यों किसानों को इन सभी जानकारियों से वंचित रखा जा रहा है कहीं कुछ बड़ा घोटाला तो नहीं होने वाला है।

9- कोरोना प्रोटोकॉल को देखते हुए यहां नहीं कोई व्यवस्थाएं , संक्रमण का बढ़ रहा खतरा
चिलचिलाती धूप में दिन भर ट्रैक्टरों की लगी भीड़ एवं इकट्ठा हो रहे किसानों से संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है लेकिन साइलो सेंटर द्वारा ऐसी कोई भी व्यवस्थाएं नहीं की गई हैं जिससे कि किसान यथा स्थिति बैठ सके सेनीटाइज कर सके सोशल डिस्टेंस बनाकर रखें मार्क्स वगैरा का बराबर प्रयोग करें आखिर किसानों को मारना चाह रही क्या प्राइवेट कंपनी जबकि पूरा कटनी जिला टोटल लॉकडाउन कर दिया गया है लेकिन यहां की व्यवस्थाएं देखकर संक्रमण का खतरा बढ़ रहा है और किसानों को इसका ध्यान रखना चाहिए किसान नेता विजय पटेल के साथ नारायण पटेल नन्ना गोविंद सिंह ठाकुर सुशील पटेल ,कमल ठाकुर ,हरभजन राय पत्रकार और भी बहुत सारे किसानों की मौजूदगी रही।