कॉर्न फेस्टिवल का अभिनव आयोजन 15 और 16 दिसंबर को छिन्दवाड़ा में

Scn news india


बैतूल,
अपने अद्भुत प्राकृतिक सौंदर्य से अभिभूत करने वाले छिन्दवाडा जिले ने विगत कुछ वर्षो में मक्का के उत्पादन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बनाई है। मक्का उत्पादन में छिन्दवाड़ा जिला प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के अग्रणी जिलों में शुमार हो गया है। जिले के किसान न केवल कई किस्मों के मक्के का उत्पादन कर रहे है, बल्कि मक्के से जुड़ी नई कृषि तकनीकी को अपनाने में भी पीछे नहीं है। मक्के की उपयोगिता और लोकप्रियता को समझकर जिले में मक्के को बेहतर बाजार उपलब्ध कराने, मक्के का व्यावसायिक उपयोग बढ़ाने, मक्के से जुड़ी खाद्य प्रसंस्करण इकाईयों को जिले में स्थापित कराने और उन्नत कृषि तकनीक द्वारा जिले के किसानों को गुणवत्तापूर्ण मक्के के उत्पादन में सहयोग प्रदान करने के उद्देश्य से प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ, जिले के सांसद श्री नकुल नाथ और प्रदेश के लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री सुखदेव पांसे की विशेष पहल पर जिला प्रशासन द्वारा छिन्दवाड़ा स्थित पुलिस परेड ग्राउंड में आगामी 15 और 16 दिसंबर को कॉर्न फेस्टिवल का आयोजन किया गया है। कॉर्न फेस्टिवल 2018 की अपार सफलता के बाद अपने व्दितीय संस्करण में यह अपनी तरह की एक अभिनव पहल है जिससे किसानों के साथ ही युवा उद्यमी, व्यापारी, उपभोक्ता, खाद्य व्यंजन निर्माता, शोधकर्ता, कृषि वैज्ञानिक, खाद्य उद्योगों से जुड़ी कंपनियां आदि लाभान्वित होंगे ।
जिला प्रशासन द्वारा कॉर्न फेस्टिवल की परिकल्पना कर मक्का उत्पादन के क्षेत्र से जुडे किसानों, शोधकर्ताओं, कृषि वैज्ञानिकों, खाद्य उद्योगों में जुड़ी कंपनियों एवं युवा उद्यमियों को एक मंच पर लाकर न केवल जिले को कॉर्न सिटी के रूप में पहचान दिलाना है, बल्कि मक्का से जुडे हितधारकों को एक मंच प्रदान कर उनके अनुभव साझा करना है। कॉर्न फेस्टिवल में सांस्कृतिक कार्यक्रम, मक्के से बने विशेष व्यंजन का लुत्फ भी लोग उठा सकेंगे। इस कार्यक्रम का उद्देश्य शिक्षा, उद्योग और मनोरंजन के माध्यम से मक्के के क्षेत्र में बेहतर संभावनायें उपलब्ध कराकर छिन्दवाडा को कॉर्न सिटी के रूप में विकसित करना है। देश के इस व्दितीय कॉर्न फेस्टिवल में विभिन्न कृषि अनुसंधान केन्द्र, युवा उद्यमी, नीति निर्माता, कृषि क्षेत्र से जुडी कंपनियां शामिल होगी।
गौरतलब है कि छिन्दवाड़ा जिले में मक्का उद्योगों एवं फूड प्रोसेसिंग से जुड़े व्यवसायों को स्थापित करने की अपार संभावनायें हैं, क्योंकि उद्योगों के लिये सभी उपयुक्त संसाधन जैसे 24 घंटे बिजली, पानी, औद्योगिक क्षेत्र में आसान दरों पर जमीन, बेहतर नेशनल और स्टेट हाईवे के साथ ही यहां हवाई पट्टी होने के साथ ही मात्र 130 किलोमीटर की दूरी पर नागपुर एयरपोर्ट स्थित है । इसके साथ ही वर्धा ड्राइपोर्ट की दूरी 175 किलोमीटर है। यहां से छिन्दवाड़ा का मक्का देश और विश्व के किसी भी कोने में एक्सपोर्ट किया जा सकता है। इन सभी सुविधाओं के साथ छिन्दवाड़ा जिले में निवेश को लेकर बेहतर लोकेशन है।
इस कार्यक्रम में प्रांतीय, राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मार्गदर्शन देने वाले मक्का अनुसंधान विशेषज्ञ सहभागिता करेंगे। सहभागी वैज्ञानिक और उद्योगपति छिन्दवाड़ा जिले के किसानों और आम जन को मक्का उत्पादन बढ़ाने, कम खर्च में अच्छी गुणवत्ता वाली मक्का की उपज प्राप्त करने, मक्का उत्पादन करने वाली उपज के अलावा अन्य गुणवत्तावाली मक्का- जिसमें शिशु मक्का, मीठी मक्का, लाई वाली मक्का, स्टॉर्च वाली मक्का, तेल वाली मक्का के साथ ही उच्च गुणवत्ता वाली प्रोटीन वाली मक्का की फसल पद्धति का प्रशिक्षण देंगे और सीधा संवाद करते हुये अन्य गुर भी सिखायेंगे। इसके अलावा मक्का पर आधारित बड़े, छोटे और घरेलू उद्योग संचालित करने वाले अनुभवी व्यक्ति अपने अनुभव साझा करेंगे। कॉर्न फेस्टिवल में मक्का प्रसंस्करण, भंडारण, मुर्गी के दाने बनाने व पशु आहार बनाने के लिये छोटे उद्योगों की स्थापना के संबंध में समझाईश दी जायेगी। इस फेस्टिवल को रोचक बनाने के लिये मक्का शो, प्रदर्शनी, पेटिंग व खाद्य व्यंजन प्रतियोगिता और अन्य कार्यक्रमों को शामिल किया गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.