होम आइसोलेशन रोगियों की नियमित तथा सघन मॉनीटरिंग करें – कलेक्टर

Scn news india

संकट को चुनौती मानकर अधिकारी पूरी जिम्मेदारी से सौंपे गये कार्य करें – कलेक्टर

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india

रीवा- कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने नोडल अधिकारियों को होम आइसोलेशन के रोगियों की सघन मॉनीटरिंग के निर्देश दिये। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना का संकट जिले के लिये असाधारण परिस्थिति है। इस समय हमारा एकमात्र उद्देश्य कोरोना संक्रमण को रोकना तथा कोरोना पीडि़तों को समय पर उचित उपचार उपलब्ध कराना है। जिले के अधिकारियों की टीम बहुत अच्छा कार्य कर रही है। अधिकारी इस संकट को चुनौती मानकर पूरी जिम्मेदारी से सौंपे गये कार्य करें। जिले के डॉक्टर तथा अन्य मेडिकल कर्मचारी कठिन परिस्थितियों तथा कोरोना के संक्रमण के खतरे के बीच पीपीई किट पहनकर भीषण गर्मी झेलते हुए कोरोना वार्ड में भर्ती रोगियों की सेवा कर रहे हैं। हर अधिकारी सेवा और समर्पण भाव से कार्य करे।

रीवा नगर निगम के 45 वार्डों में तैनात 45 जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश देते हुए कलेक्टर ने कहा कि कोरोना टेस्ट में पॉजिटिव आने वाले रोगी को तत्काल मेडिकल किट उपलब्ध करायें। मेडिकल किट की व्यवस्था मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी करें। इनका वितरण शहरी क्षेत्र में नगरीय निकाय तथा ग्रामीण क्षेत्र में ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जायेगा। नगर निगम आयुक्त सभी नोडल अधिकारियों को प्रतिदिन कोरोना संक्रमितों की वार्डवार संख्या के अनुसार किट उपलब्ध करायें। किट वितरण की गूगल शीट तथा सार्थक एप के माध्यम से निगरानी करें। सभी मुख्य नगर पालिका अधिकारी भी अपने-अपने नगरीय निकायों में कोरोना पीडि़तों को मेडिकल किट वितरण की वार्डवार व्यवस्था करें।

कलेक्टर ने कहा कि जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रत्येक ग्राम पंचायत में होम आइसोलेशन के कोरोना पीडि़तों को मेडिकल किट का वितरण जनपद के मुख्य कार्यपालन अधिकारी तथा आशा कार्यकर्ता के माध्यम से करायें। जनपदों को बीएमओ ग्रामवार सूची के अनुसार मेडिकल किट उपलब्ध करायेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी नगरीय निकायों तथा बीएमओ को मेडिकल किट पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध करायें। प्रत्येक फीवर क्लीनिक में पर्याप्त संख्या में मेडिकल किट उपलब्ध रहे। फीवर क्लीनिक में रैपिड किट से जांच करने पर रोगी के पॉजिटिव पाये जाने पर तत्काल उसे मेडिकल किट प्रदान करें। लैब से नमूने की जांच रिपोर्ट आने पर रोगी को तत्काल किट उपलब्ध करायें। इसकी जानकारी प्रतिदिन गूगल शीट में दर्ज करायें। जानकारी दर्ज कराने के लिये पटवारी तथा शिक्षकों की डियूटी लगायें। सभी एसडीएम किट वितरण की नियमित समीक्षा करें।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि होम आइसोलेशन में रह रहे रोगियों की निगरानी तथा उनसे सतत सम्पर्क रखना आवश्यक है। यदि कोई रोगी गंभीर होता है तो तत्काल उसे अस्पताल में भर्ती करायें। केवल निरंतर मॉनीटरिंग से भी कई कठिनाईयां हल हो जायेंगी। कलेक्टर ने कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण, मास्क लगाने के लिये लोगों को प्रेरित करने तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिये। बैठक में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, एडीएम श्रीमती इला तिवारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएल गुप्ता तथा सभी नोडल अधिकारी उपस्थित रहे।