नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेचने वाला आरोपी, क्राईम ब्रांच इन्दौर की गिरफ्त में ,400 रेमडेसिवीर इंजेक्शन जप्त

Scn news india

मनोहर

*आरोपी से मौके से 400 रेमडेसिवीर इंजेक्शन जप्त

*थाना क्राईम ब्रांच इन्दौर एवं ड्रग्स डिपार्टमेंट इन्दौर की संयुक्त कार्यवाही

*जरूरत मंद एवं आम जनता को धन लाभ हेतू उक्त नकली इंजेक्शन ऊंची कीमत पर बेचने की फिराक मे था आरोपी।

*जप्तशुदा नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कीमत करीब 20 लाख रूपए*

*गिरफ्तारशुदा आरोपी है पीथमपुर की इपोक फार्मा स्यूटीकल्स कंपनी का मालिक*

इंदौर – कोरोना संक्रमण से जूझते लोगों के साथ खिलवाड़ करते एवं पेशे को कलंकित करने वाले पीथमपुर  इपोक फार्मा स्यूटीकल्स कंपनी का मालिक को पुलिस ने रंगे हाथो धरदबोचा है। जो संकट काल में भी अपने फायदे के लिए लोगों की जान से खिलवाड़ कर रहा था। आरोपी के पास से 400 नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन की वाईल पुलिस ने जप्त की है।

पुलिस उप महानिरीक्षक इंदौर शहर श्री मनीष कपूरिया द्वारा इन्दौर शहर मे रेमडेसिवीर इंजेक्शन की कालाबजारी एवं तस्करी एवं उक्त नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन के उत्पाद एवं विक्रय करने वालों पर निगरानी हेतू निर्देशित किया गया था । उक्त निर्देशों के तारतम्य में पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री अरविन्द तिवारी के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक क्राईम ब्रांच श्री गुरू प्रसाद पाराशर द्वारा इस सूचना की तस्दीक एवं आवश्यक कार्यवाही करने हेतु निर्देशित किया गया था ।

आज दिनांक 15.04.2021 को इसी कड़ी में थाना क्राईम ब्रांच को विश्वसनीय मुखबिर से सूचना प्राप्त हुई कि पीथमपुर की इपोक फार्मा स्यूटीकल्स कंपनी का मालिक न्यू रानीबाग खंडवा रोड जिला इन्दौर स्वंय की काले रंग की टाटा सफारी कार से नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन को विक्रय करने हेतू ग्राहकों एवं मरिजों की तलाश मे है उक्त सूचना पर विश्वास कर क्राईम ब्रांच की टीम ने मुखबिर के बताए स्थान पर न्यू रानीबाग खंडवा रोड जिला इन्दौर पर कालोनी के गेट के बाहर उक्त काले रंग की टाटा सफारी क्रमांक MP-09/CM -5176 को घेरा बंदी कर पकडा जिसमे ड्रायवर सीठ पर बैंठे व्यक्ति ने अपना नाम विनयशंकर त्रिपाठी पिता स्वं. बृजकुमार तिवारी उम्र 56 साल नि. के 23 न्यू रानी बाग खण्डवा रोड़ इंदौर मो.न. 9516596155 होना बताया एवं उसकी वाहन की तलाश लेते उसकी कार से रेमडेसिवीर इंजेक्शन का एक बडा कार्टून बरामद हुआ जिसको खोलकर देखते उसके अंदर 16 छोटा कार्टून मिले जिसको खोलने पर उसमे रेमडेसिवीर इंजेक्शन के कुल 400 नग इंजेक्शन की वायल मिली। उक्त संबध मे आरोपी से वैध लायसेंस के बारे मे पूछते कोई वैध दस्तावेज एवं क्रय विक्रय का कोई बिल ना होना पाया गया आरोपी ने पूछताछ मे उक्त नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन हिमाचल प्रदेश की किसी फैक्ट्री से ट्रासपोर्ट के माध्यम से बुलवाना बताया जो स्वंय व्दारा विक्रय करने की फिराक मे था उक्त जप्तशुदा 400 नग रेमडेसिवीर इंजेक्शन वायल की कीमत करीब 20 लाख रूपए होना बताया है ।
आरोपी विनयशंकर त्रिपाठी पिता स्वं. बृजकुमार तिवारी उम्र 56 साल नि. के 23 न्यू रानी बाग खण्डवा रोड़ इंदौर के विरूध्द थाना क्राईम ब्रांच जिला इन्दौर मे अपराध क्रमांक 10/21 धारा 420,274,275,276 भादवि व औषधी एव प्रसाधन सामग्री अधिनियम 1904 की धारा 18 (c),18(d) ,27 एवं एपीडेमीक डिसिस एक्ट 1897 की धारा 3 का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया है आरोपी व्दारा उक्त नकली रेमडेसिवीर इंजेक्शन उत्पाद करने वाली कंपनी एव अन्य आरोपीयों के नाम की जानकारी मिलने की भी संभावना है ।