क्या हैं नए संक्रमण के शुरूआती लक्षण

Scn news india

मनोहर

देश में कोरोना की दूसरी लहर थमने का नाम नहीं ले रही है. रोजाना नए मामलों की संख्या बढ़ रही है।   कई राज्यों ने कोरोना को बढ़ने से रोकने के लिए पाबंदियां लगाई हैं।  केंद्र और राज्य सरकार हालात से निपटने के लिए नई रणनीति बना रही हैं. कई राज्यों ने आंशिक प्रतिबंध और नाइट कर्फ्यू का सहारा लिया है। तो कहीं कोरोना कर्फ्यू।  तो कई जगह पर टेस्टिंग और ट्रेसिंग पर जोर दिया जा रहा है।  ऐसे में कोरोना की दूसरी लहर को लेकर कई गंभीर सवाल लोगों के मन में हैं कि इसके शुरूआती लक्षण क्या है।

 क्या हैं नए संक्रमण के लक्षण

कोरोना वायरस के नए संक्रमण के लक्षण पुराने से अधिक गंभीर हैं।  पुराने लक्ष्ण जैसे खांसी, बुखार, गले में तकलीफ के साथ नया वायरस अन्य लक्षण भी लेकर आया है. अस्पतालों में भर्ती हो रहे मरीजों के पड़ताल से इसकी जानकारी मिली है।  नए लक्षण में लगातार सिर दर्द ,वायरल बुखार के साथ पेट में दर्द, उल्टी व दस्त, घबराहट, सर्दी-जुकाम, कमजोरी , थकान  आदि शामिल हैं।  कई मरीजों को बदन में दर्द, गैस, भूख न लगना, मांसपेशियों में अकड़न स्वाद ना महसूस होना , गंध न समझ आना  जैसी शिकायतें भी हैं. हालांकि, अब भी ऐसे मरीजों की तादाद कम नहीं हैं, जिनमें कोई लक्षण नजर नहीं आ रहे हैं।

क्या तेजी से फैल रहा है नया संक्रमण

कोरोना के ज्यादातर मामलों में अब भी न के बराबर या काफी हल्के लक्षण नजर आ रहे हैं. मगर समय के साथ-साथ वायरस ने अपना रूप बदल लिया है. यह अधिक घातक हो गया है. जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है, उन पर इसका कहर अधिक है. इसलिए अधिक लोगों को हॉस्पिटल में भर्ती करवाना पड़ रहा है।

गैस को न करें नजरअंदाज

कोरोना वायरस के नए मामलों में पेट में एसिडिटी या गैस की शिकायत काफी आम है. शुरुआत में इसे गंभीरता से नहीं लिया जा रहा था, मगर अब डॉक्टर इस बात को लेकर काफी चिंतित है।

किन्तु ऐसे लक्षण में घबराने की आवश्यकता बिलकुल भी नहीं है। तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र  संपर्क कर उपचार ले। मॉस्क लगाए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करे। हाथों को साबुन से बार बार धोते रहे। और यदि 45 वर्ष आयु से अधिक के है तो वेक्सीन जरूर लगवाए। गले को सूखने ना दे बार बार पानी पीते रहे। हो सके तो गर्म पानी पीये।