मुख्यमंत्री कमलनाथ ने 4 करोड 20 लाख 96 हजार रूपयो के 30 कार्यो का शिलान्यास और लोकार्पण किया

Scn news india

मनोहर

झाबुआ -प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ का मंगलवार को एक दिवसीय झाबुआ आगमन जिले को कई सौगाते दे गया। स्थानीय पोलिटेक्निक कॉलेज परिसर में आयोजित पंचायत राज सम्मेलन और पंचायत सचिवालय पदाधिकारियों के सम्मेलन में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने 4 करोड 20 लाख 96 हजार रूपयो के 30 कार्यो का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री और प्रदेश के नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरीण एवं पर्यटन विभाग के मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुश्री विजय लक्ष्मी साधो, कृषि उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसस्करण मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसी सिलावट, मध्यप्रदेश के पचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल,भी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने सम्मेलन में झाबुआ वासियों को विश्वास दिलाया की वे उन्हें निराश नहीं होने देगे। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि मुझे घोषणा करने मै नही कार्य करने में विश्वास है। मैं कार्य करूगा और आप कार्य संपन्न होने की पुष्टी करते हुए घोषणा करेगे।


मुख्यमंत्री ने कहा की उनका झाबुआ से छिदवाडा की तरह दिल का संबंध है। आज सबसे बडी चुनोती नौजवानो के भविष्य निर्माण की है। अगर नौजवानो का भविष्य अच्छा होगा तो मध्यप्रदेश का भविष्य भी उज्ज्वल होगा। उन्होने पिछले साढे नौ माह के दौरान सरकार द्वारा किये गये कार्यो की फेरहिस्त गिनाई। जिलेवासियो को आसवस्त किया कि वे प्राप्त एक एक आवेदन पर कार्यवाही सुनिश्चित करवायेगे। कार्यक्रम में मंत्रीगण सर्वश्री श्री सचिन यादव, कमलेश्वर पटेल, बाला बच्चन, सुरेन्द्रसिंह बघेल, डॉ विजय लक्ष्मी साधौ ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा वन अधिकार पत्र, मत्स्य पालन के पट्टे उद्योग विकास और आजिविका परियोजना के माध्यम से स्वरोगार हेतु 229 हितग्राहियो को 4 करोड 6 लाख 45 हजार रूपये के सत्व सौपे।
कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री द्वारा 10 सामुदायिक भवन जिसकी लागत 2 करोड 22 लाख है, का शिलान्यास एवं एक आजीविका भवन जिसकी लागत रू. 40 लाख है का लोकार्पण किया। इस के अतिरिक्त 19 स्टापडेम मरमम्त कार्य जिस पर कुल व्यय रू. 158.96 के कार्यो का स्वीकृति जो भोपाल से स्वीकृत हुई है। उसका भी शिलान्यास किया। वन अधिकार अधिनियम के अंतर्गत 20 हितग्राहियो को वन अधिकार पत्र एवं 5 लाडली लक्ष्मी योजना अंतर्गत प्रत्येक को रू. 1.18 लाख की राशि एवं प्रमाण पत्र का वितरण, बेटी बचाओ बेटी पढाओ योजना अंतर्गत जिले में वर्ष 2018-19 कक्षा 10 वी में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10 बालिकाओ को 5-5 हजार रू. दिये। इस योजना में 12 वी कक्षा में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाली 10 बालिकाओ को 5-5 हजार रू. दिये। महिला बाल विकास विभाग द्वारा संचालित वन स्टाप सेंटर के अंतर्गत उत्कृष्ट सेवाओ के लिये श्रीमती लीला परमार एवं 6 आंगवाडी केन्द्र की कार्यक्रताओ को सम्मान पत्र दिया। मत्स्योद्योग द्वारा 6 स्वयं सहायता समूहो को एवं 1 समिति को मछली पालन पट्टा दिया। मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अंतर्गत 25 हितग्राहियो को रू. 40.90 लाख, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण के 19 हितग्राहियो को रू. 9.50 लाख, नगद साख सीमा 26 स्वयं सहायता समूहो को रू. 26.28 लाख, सामुदायिक निवेश निधि के 102 हितग्राहियो को रू. 80.15 लाख राशि का वितरण किया।
आरंभ में कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्यमंत्री एंव अथितियो द्वारा दीप प्रज्जवलन कर किया गया। इस मौके पर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती शांति राजेश डामोर विधायक सर्व श्री कांतिलाल भुरिया, विरसिंग भूरिया, वालसिंह मेडा, कलावती भूरिया, धूमा सोंलकी, मुकेश पटेल, ग्यारसी लाल रावत, मनोज चावला, हर्ष विजय गेहलोत, पांचिलाल मेडा,

Leave a Reply

Your email address will not be published.