प्रहलाद  पटेल की दांडी यात्रा – नाडिया में 75 किलोमीटर की पूरी की

Scn news india

मनोहर

केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने आज नाडिया में 75 किलोमीटर की दांडी यात्रा पूरी की। पिछले चार दिनों में हजारों लोग दांडी यात्रा में शामिल हुए और पदयात्रा में भाग लिया। यात्रा में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, सांसद देवु सिंह चौहान और विधायक अर्जुन सिंह चौहान सहित कई गणमान्य लोग शामिल हुए।

 

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने 12 मार्च को साबरमती आश्रम से महात्मा गांधी की दांडी यात्रा की तर्ज पर पदयात्रा को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया था। यह यात्रा आजादी की 75वीं वर्षगांठ को समर्पित “आजादी का अमृत महोत्सव” के उद्घाटन के अवसर पर रवाना की गई थी। श्री पटेल को नडियाद तक पदयात्रा के पहले 75 किलोमीटर का नेतृत्व करना था।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0011L0G.jpg

पदयात्रा के चौथे दिन के दौरान, सोखरा, संदना, पलाना, दावड़ा, डभान में बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने सभी पदयात्रियों का स्वागत किया और चिलचिलाती गर्मी में राहत देने के लिए पानी, जूस, कोल्ड ड्रिंक और चाय बांटी।

 

केंद्रीय मंत्री ने 17 राज्यों के अन्य यत्रियों के साथ सुबह 7:30 बजे चौथे दिन का मार्च शुरू किया। श्री पटेल ने डभन में दोपहर के भोजन के लिए एक संक्षिप्त विश्राम लिया। मंत्री का जोरदार स्वागत मेथोडिस्ट चर्च पहुंचने पर किया गया। उसके बाद मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने सरदार पटेल भवन में केंद्रीय मंत्री का स्वागत किया और पदयात्रा में भाग लिया और नडियाद के संतराम मंदिर पहुंचे और भारत @75 प्रदर्शनी का भी दौरा किया।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0022RMZ.jpg

 

श्री पटेल ने पहले दिन साबरमती आश्रम से असाली तक लगभग 18 किमी की पदयात्रा की। पदयात्रा के दौरान कई स्थानों पर स्थानीय लोगों ने उनका स्वागत किया। वह रात्रि विश्राम के लिए असाली में रुके जहां गांधी जी और भजन पर आधारित नाट्य प्रस्तुतियां प्रस्तुत की गईं।

 

दूसरे दिन मंत्री ने सुबह आठ बजे असाली से सैकड़ों लोगों के साथ पदयात्रा शुरू की। उन्होंने 200 साल पुराने प्राचीन स्वामीनारायण मंदिर का दौरा किया। 18 किमी पैदल चलने के बाद पदयात्रा नवागाम पहुंची जहां कलमबंधी स्कूल के बच्चों ने सभी का स्वागत किया। दांडी यात्रा के दौरान गांधी जी के इस स्कूल में रुकने से इस स्कूल का ऐतिहासिक महत्व है। खेड़ा से सांसद श्री देवु सिंह चौहान ने केंद्रीय मंत्री को गुजराती पगड़ी पहनाकर स्वागत किया। श्री पटेल ने गांधीजी की प्रतिमा पर माला चढ़ाई। लोगों को संबोधित करते हुए, श्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि उन्होंने कई पदयात्राएं की हैं लेकिन दांडी यात्रा करना उनका सबसे बड़ा सौभाग्य है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0032YPK.jpg

श्री प्रहलाद सिंह पटेल अपनी केंद्रीय पदयात्रा के तीसरे दिन खेड़ा के सांसद श्री देवु सिंह चौहान और सैकड़ों अन्य यत्रियों के साथ केंद्रीय मंत्री श्री गिरिराज सिंह के साथ शामिल हुए। गोविंद पुरा के ऐतिहासिक प्राथमिक विद्यालय में, जहां गांधीजी ने रात्रि विश्राम किया था, ग्राम पंचायत ने केंद्रीय मंत्री श्री पटेल और गिरिराज सिंह और सभी यत्रियों का स्वागत किया। यहां स्कूल के छात्रों ने सर्वधर्म और कुछ गानों पर आधारित एक नाटक भी किया।

 

वसाना बुजर्ग में हजारों लोगों ने पैदल यात्रियों का स्वागत किया। ब्रह्मकुमारी आश्रम में केंद्रीय मंत्री और अन्य लोगों का स्वागत चंदन के तिलक, गुलदस्ते और शॉल के साथ किया गया। लगभग 18 किमी की यात्रा के बाद, श्री पटेल और सभी पैदल यात्री मातर पहुंचे जहां उनका भव्य स्वागत किया गया। श्री पटेल और सभी यत्रियों ने तीसरी रात वहां विश्राम किया।

 

इस मार्च में देश भर के 17 राज्यों के लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें मध्य प्रदेश से 44, महाराष्ट्र से 4, केरल से 1, तमिलनाडु से 1, मणिपुर से 2, राजस्थान से 7, दिल्ली से 5, उत्तर प्रदेश से 4,  बिहार से 6 और उत्तराखंड, पंजाब, पश्चिम बंगाल, झारखंड, ओडिशा, हिमाचल प्रदेश और हरियाणा से एक-एक, नेपाल से 2 यत्रियों ने भी भाग लिया।

Live Web           TV