विजयराघवगढ़-  हत्या के फरार आरोपी अमित चक्रवर्ती निवासी कैमोर का गिरफ्तारी वारंट : शीघ्र कुर्क नीलाम होगी आरोपी की विशाल चल अचल संपत्ति

Scn news india

संवाददाता, ज़ाहिद हुसैन सिद्दीकी

विजयराघवगढ़-माननीय न्यायालय श्री संजीव पांडे , विशेष न्यायाधीश अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम कटनी द्वारा थाना कैमोर के हाल ही में पिकअप गाड़ी से ठोकर मार कर रिततु खरे की सुपारी देकर हत्या कराने के मामले में फरार चल रहे आरोपी अमित चक्रवर्ती पिता लक्ष्मण दास चक्रवर्ती उम्र 38 साल निवासी तिलक चौक कैमोर के विरुद्ध गिरफ्तारी वारंट जारी किया है ।

पुलिस अधीक्षक कटनी श्री मयंक अवस्थी (भा. पु. से.) के मार्गदर्शन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कटनी श्री संदीप मिश्रा एवं एसडीओपी विजय राघोगढ़ सुश्री शिखा सोनी के निर्देशन में टीआई कैमोर अरविंद जैन ने मामले में माननीय न्यायालय को फरार चल रहे आरोपी अमित चक्रवर्ती के फरारी पंचनामा एवं उसकी राजस्व विभाग से प्राप्त अचल संपत्ति एवं चल संपत्ति के विवरण के साथ साक्ष्यों को प्रस्तुत कर धारा 82 – 83 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत कुर्की एवं नीलामी कार्रवाई प्रारंभ किए जाने हेतु प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया , थाना प्रभारी कैमोर के प्रतिवेदन पर माननीय न्यायालय द्वारा संतुष्ट होकर संज्ञान लेते हुए फरार चल रहे आरोपी अमित चक्रवर्ती निवासी कैमोर का धारा 73 (1 ) दंड प्रक्रिया संहिता के तहत गिरफ्तारी वारंट जारी कर माननीय न्यायालय गिरफ्तार कर पेश करने का आदेश किया है । शीघ्र ही फरार चल रहे आरोपी अमित चक्रवर्ती की चल अचल संपत्ति कुर्क किया जाकर नीलाम करने की कार्रवाई की जाएगी ।
उल्लेखनीय है कि उक्त प्रकरण में आरोपी फज्जू उर्फ फैजल पिता समीर खान उम्र करीब 22 साल निवासी भटिया मोहल्ला कैमोर, फैजान पिता शकील खान उम्र करीब 19 साल निवासी लाल नगर कैमोर एवं मृतक रितु खरे की पत्नी पुष्प लता खरे उर्फ नंदिनी तिवारी उम्र करीब 32 साल निवासी तिलक चौक कैमोर गिरफ्तार हो चुके हैं एवं वारदात के बाद से पूरी वारदात को अंजाम देने वाला मास्टरमाइंड फरार चल रहा है जिसके विरुद्ध पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए संपूर्ण चल अचल संपत्ति को कुर्क कराए जाने हेतु न्यायालय को प्रतिवेदन प्रस्तुत किया है । उल्लेखनीय है कि राजस्व विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार आरोपी अमित चक्रवर्ती की अनेकों संपत्तियां एवं डंपर, पोकलेन मशीन इत्यादि हैं जिनका कुर्की एवं नीलामी कार्रवाई की जा रही है।