एडस जैसी बीमारी से जागरूकता ही बचा सकती- डा. करगैयां

Scn news india
जागरूकता अभियान
जागरूकता अभियान

 रविकांत बिदोल्या scn न्यूज़ ब्यूरो

हटा दमोह – 1  दिसम्‍बर विश्‍व एडस दिवस पर नगर में जागरूकता अभियान चलाया गया, लोगों को रेड रिबन लगाकर एडस से कैसे बचे इसकी जानकारी दी गई, अभियान फोरलेन, बस स्‍टेण्‍ड, अस्‍पताल परिसर एवं पुरानी गल्‍ला मंडी में चलाया गया, १०० से अधिक लोगों को रेडरिबन बैच लगाये गये,
सीबीएमओ डा. पीडी करगैयां ने बताया कि जागरूकता से ही एडस जैसी बीमारी से बचा जा सकता है, यह एक संक्रामक बीमारी है, कभी भी रोग को छिपाना नहीं चाहिए बल्कि मुकाबला करने की आवश्‍यकता है, आमजन को भी पीडित व्‍यक्ति के साथ सामान्‍य व्‍यवहार करना चाहिए ताकि पीडित को हीन भावना न आये, नेत्र् रोग सहायक अरविन्‍द नेमा एवं एलटी मनीष श्रीवास्‍तव, रवीन्‍द्र बंसल ने आटो चालकों, भारी वाहन चलाने वालो एवं अन्‍य आमजन को बैच लगाते हुए एडस रोग के लक्षण एवं उसके प्रभावों की जानकारी दी,
एकीकृत जॉच एवं परामर्श केन्‍द्र के काउंसलर उदय दुबे ने बताया कि हटा क्षेत्र् में करीब पांच हजार लोगों का परीक्षण किया गया जिसमें ४८ एडस पीडित व्‍यक्ति मिले है, इनमें करीब पन्‍द्रह तो पति पत्‍नी है, एक दस साल का बच्‍चा भी है जिसकी मां भी एडस पीडित थी, पीडितों की उम्र अधिकांशतः २० से ३० वर्ष की है, सभी का इलाज सागर एवं जबलपुर के मेडीकल कालेज में चल रहा है,
जागरूकता अभियान नगर की उमंग सेवा समिति के द्वारा चलाया गया, अभियान में डा. उमाशंकर पटेल, डा. केडी नेमा, संजय जैन, रामचरण सेन, सुरेश साहू सहित सिविल अस्‍पताल स्‍टाफ का सहयोग रहा,

Leave a Reply

Your email address will not be published.