वेक्सिनेशन के बाद भी सिविल सर्जन डॉ. अशोक बारंगा के कोविड पॉजिटिव होने से प्रबंधन ने दी सफाई

Scn news india

मनोहर 
बैतूल-मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. डब्ल्यूए नागले ने आमजन से अपील की है कि कोविड वैक्सीनेशन पूर्णत: सुरक्षित है। इसके संबंध में किसी तरह की भ्रांति मन में न पालें। उन्होंने बताया कि 4 मार्च को जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. अशोक बारंगा कोविड पॉजिटिव आए हैं। उनको 16 जनवरी एवं 22 फरवरी को कोरोना वैक्सीन का प्रथम एवं द्वितीय डोज लगा था। कोविड वैक्सीन के 14 दिन बाद शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता पूर्ण रूप से विकसित होती है, उनको यह संक्रमण 10 दिन बाद ही हुआ है, इसलिए कोविड वैक्सीन से भ्रमित होने की आवश्यकता नहीं है। कोविड वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। साठ वर्ष से ऊपर के सभी वरिष्ठ नागरिकों एवं 45 से 59 वर्ष के सभी को-मॉर्बिड हितग्राहियों से अपील है कि वे निर्धारित स्थल पर आकर अपना कोविड वैक्सीनेशन कराएं।
कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने सिविल सर्जन के पॉजिटिव होने की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक सुश्री सिमाला प्रसाद एवं सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी के साथ जिला अस्पताल का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने वहां की व्यवस्थाएं देखीं, साथ ही वैक्सीनेशन कक्ष का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने यहां कार्यरत चिकित्सकों एवं कर्मचारियों को कोविड से बचाव के प्रति सजग रहने की भी समझाइश दी।