35 अवैध निर्माणाधीन कॉलोनी के विरुद्ध एफआईआर दर्ज ,अवैध कालोनी के विरुद्ध जल्दी बड़ा अभियान शुरू

Scn news india
मनोहर
भोपाल-कलेक्टर भोपाल श्री अविनाश लवानिया ने कहा है कि भोपाल जिले में एक विशेष मुहिम शुरू की  जाएगी। जितनी भी अवैध कॉलोनी का निर्माण की जा रही हैं। डायवर्सन, रेरा की अनुमति,  कॉलोनाइजर के लाइसेंस के बिना और टाउन एंड कंट्री प्लानिंग की अनुमति के बिना कॉलोनी काट रहे है और आम जनता को कॉलोनी में प्लॉट बेच देते हैं, जिसके बाद आमजन को यह समस्या होती है, किसी प्रकार के डेवलपमेंट के बिना कॉलोनी बना देते है और जितनी भी अवैध कॉलोनी हैं उनके विरुद्ध एफआईआर करने की कार्रवाई के साथ ही उनके द्वारा जो भी निर्माण किए गए हैं बिना अनुमति के उन सभी को हटाने की कार्रवाई की जा रही है।
    ऐसी 157 कॉलोनियां है जिनको हमने चिन्हित किया है उन्हीं के विरुद्ध एफआइआर की जा रही है अभी तक लगभग 35 एफआईआर हमारे द्वारा की जा चुकी है और इन सभी 150 से अधिक अवैध कॉलोनी के विरुद्ध एफआइआर कराई जा चुकी है। यहां पर बिल्डर्स पैसा ले चुके हैं उसके बाद भी फ्लैट उपलब्ध नहीं करा रहे हैं । इन सभी प्रकरण में रेरा एक्ट के तहत आदेश उन सभी लोगों के राशि वापस कराए जाने की कार्यवाही की जा रही है।
    कलेक्टर श्री लवानिया ने बताया कि भोपाल में जिला प्रशासन द्वारा बिल्डर की संपत्ति को कुर्क करके उससे राशि वसूली कर उनको राशि वापस दिलाते हैं। शासन से प्राप्त निर्देशानुसा पूर्व की निर्मित कॉलोनी जिनमें की सभी वैध प्रमाण पत्र नहीं है। जैसे भी गाइडलाइन प्राप्त होगी उसके आधार पर कार्यवाही की जाएगी।
    आज भी सर्वोदय गृह निर्माण संस्था के नाम से 1988 -89 में सोसायटी भी  बनी थी जिसका ले आउट फाइनल कराकर  सदस्यों को प्लाट दिए जाने थे बाद में उक्त सोसायटी को जनसहयोग सोसायटी ने उस सोसायटी को ले लिया और नए सदस्यों को सदस्य बनाकर प्लॉट के टुकड़े कर लिए  इसके साथ ही बिना अनुमति नया ले आउट बनाकर कमर्शियल प्लॉट भी बिना अनुमति के निकाल दिए थे।जनसहयोग सोसाइटी के द्वारा मिस नीलम और मायादेवी रमतानी है जिसके नाम पर ट्रांसफर किया गया था जो पूरी तरह अनुचित था बिना सोसाइटी के नियमों का पालन किया इस सोसाइटी में जितने भी अनियमितताएं पाई गई इसमें कार्रवाई की जाएगी और बाकी जो जमीन इनके द्वारा दी गई है उसका भी परीक्षण करा रहे हैं।