हटा उपकाशी में मिला गैस का भंडार…एक दर्जन से अधिक बोरबेल मे गैस रिसाव की आशंका

Scn news india

हटा उपकाशी में मिला गैस का भंडार…

कमता गांव मे एक दर्जन से अधिक बोरबेल मे गैस रिसाव की आशंका….

क्षेत्र में पर्याप्त गैस भंडारण होने की संभावना….

यूँ तो दमोह जिले की धरा पहले से ही अमूल्य रत्न गर्भा रही है लेकिन अब इस संपदा के साथ साथ पेट्रोलियम पदार्थों और गैस के अपार भंडार होने की संभावनाएं भी क्षेत्र में बढ़ रही है। पहले भी  ग्रामीण अंचल में कुछ दिनों तक अचानक बोर से अपने आप पानी निकलते रहने या गैस की गंध की घटनाएं सामने आ चुकी हैं लेकिन दमोह जिले के हटा अनुविभाग अंतर्गत आने वाले गैसाबाद थाना क्षेत्र के कमता गांव में पिछले दो बर्षो से होने वाले नलकूपों की खुदाई में गैस रिसाव की जानकारी मिलने पर जब टीम ने पड़ताल की तो चौकाने वाली जानकारियां सामने आईं हैं.

हटा  मुख्यालय से 27 किलो मीटर दूर स्थित ग्राम पंचायत मुहरई में शामिल छोटे से इस गाँव में हुए नलकूप खनन में गंध मिश्रित होने के साथ पानी का स्वाद अच्छा नहीं लग रहा है. दो बर्ष पहले किसान मुन्ना पटेल ने अपने खेत में तीन सौ फीट बोर कराया लेकिन जब उसमें मशीन डाली तो पानी में गंध होने की वजह से एक बार माचिस की तीली जलाकर पानी में लगाई तो पानी मे कुछ समय के लिए आग लगी। जिससे पूरे गांव में हड़कंप मच गया… इसी तरह उसी गांव में दर्जन भर से अधिक किसानों ने अपने खेत मे बोर कराया तो उसमें अलग से गैस जैसी गंध आ रही है..

आलम यह है कि बोर के पास तीली लगाने से आग की लपटें निकलने लगती हैं. क्षेत्र में लगभग सौ एकड से अधिक क्षेत्रफल मे दो दर्जन से अधिक बोर हुए है जिन बोर में 250 फीट तक पानी नहीं निकलता उसके बाद गंध और अमलीय पानी निकल रहा है. जिसमें आग लगाने पर लपटें निकलती हैं. लेकिन अभी तक किसी जगह इसकी शिकायत नहीं की है. बोर में गैस निकलने से खेतों की सिचाई नहीं हो पा रही हैं। पानी के साथ गैस निकलने से ग्रामीणों में हमेशा डर बना रहता है कि कहीं आग ना लग जाएं. भूगर्भ के बारे में जानकर भले ही इसे पेट्रोलियम पदार्थों की उपलब्धता से जोड़कर देख रहे हों लेकिन हाल फिलहाल तो इतने रुपये खर्च करके बोर कराने वाले किसान खेती में पानी के लिए परेशान हैं. वही पानी के साथ गैस की जांच किए जाने की मांग की ग्रामीणों द्वारा की जा रही है.