रेत माफिया डॉन ने एक पत्रकार को जान से मारने की की कोशिश, नही हुई आज तक कोई कार्यवाही

Scn news india

गणेश शर्मा जिला ब्यूरों डिंडोरी 

मध्यप्रदेश के दो जिले के सीमा में इस्थित पवित्र नगरी अमरकंटक अनूपपुर और डिंडोरी जंहा एकआश्चर्य  जनक घटना सामने आई।विगत दिनों अमरकंटक पवित्र नगरी निवासी धीरू रेत माफिया जिसकी आये दिन कोई ना कोई शिकायत आती रहती है।उसी प्रकार अमरकंटक निवासी आर.पी.मिश्रा मध्यप्रदेश ABC न्यूज के संवाददाता  14 फरवरी को धीरू माफिया की ट्रेक्टर अवैध रेत से भरा जिसको पत्रकार को लोगों के द्वारा मिली सूचना के अनुसार ट्रैक्टर को रोक कर ड्राइवर से पूछताछ करने पर ट्रैक्टर ड्राइवर ने बगैर रायल्टी  से रेत होना बताया था जिसको ड्राइवर ने स्वीकार किया था।जिसके बाद ट्रैक्टर मालिक धीरू ने खबर मिलते ही मौके पर पहुँच कर पत्रकार मिश्रा को धमकी देते हुए ड्राइवर को उतारकर स्वम् ट्रेक्टर गाड़ी चलाते हुए उक्त स्थान से आगे की ओर बढ़ाने लगा जिसका पीछे करते हुए मिश्रा ने संबंधित अधिकारियों को जैसे पुलिस थाना अमरकंटक वा राजस्व विभाग पटवारी को जानकारी देते हुए ट्रैक्टर को रोकने का प्रयास किया पर धीरू ने ट्रेक्टर तो नही रोका साथ ही पत्रकार मिश्रा को टारगेट करते हुए जान से मारने के प्रयास में गाड़ी से टक्कर मारा जिससे मिश्रा बाल बाल बचा साथ ही पत्रकार का माइक,आई डी,एनरॉयड मोबाइल चकनाचूर हो गया।

घटना के बाद मिश्रा ने तत्काल पुलिस सहायता थाना अमरकंटक पहुंच कर शिकायत दर्ज कराने पहुँचा लेकिन थाने में आवेदक का आवेदन नही लिया गया।साथ ही थाना प्रभारी भानु प्रताप के द्वारा अस्वाशन दिया गया था कि आप अपनी आवेदन पत्र दे दे हम दिखवा लेंगे।लेकिन पत्रकार मिश्रा का कहना है कि मेरे द्वारा आवेदन दिया गया था जिसका मुझे पावती नही दिया जा रहा था और साथ ही टाल मटोल किया जा रहा था।जिससे मैं संतुष्ट नही हुआ।
वंही मिश्रा ने घटना की जानकारी उच्च अधिकारियों से सम्पर्क में पुलिस एस.डी.ओ.पी. राजेन्द्र ग्राम से भी किया तो एस.डी.ओ. पी.ने जाँच कर कार्यवाही करने की अस्वाशन तो दिया पर आज तक दबंग रेत माफिया के खिलाफ आज तक कोई कार्यवाही नही हुई।
वंही एक ओर मध्यप्रदेश सरकार के ओसस्वी मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने राज्य में पत्रकारों के लिए बड़ी बड़ी सुविधा,संरक्षण,और काननों की बात करते है और दूसरी ओर एक थाना प्रभारी ने दबंग माफियाओं को संरक्षण देते दिखाई दे रहे है।

वैसे तो पत्रकार को भी देश में चौथे स्तंभ माना जाता है और सही पत्रकार का काम सच को उजागर करना जनहित में प्रेसित करना होता है यदि ऐसे में इन दबंगो पर कोई कार्यवाही नही किया जाता तो इनका सह(रूब)और बढ़ेगा और आगे चल कर कोई ना कोई बड़ी घटना करते रहेंगे।आये दिन मध्यप्रदेश में ऐसे कई घटना हुए है चाहे वो कोई भी जिले का मामला पर बात तो यंहा खड़ी हो जाती है जब ऐसे दबंग माफियाओं ने एक पत्रकार को गाड़ी से कुचलकर मार डालता है और कोई कार्यवाही नही होती।
वंही पत्रकार मिश्रा का कहना है कि इतने दिन धीरू माफिया के खिलाफ कोई कार्यवाही नही हुआ तो वह इधर उधर पान टपरा,होटल,ढावा में लोगों को मेरे खिलाफ उल्टा सीधा बयान बाजी करता है साथ ही एक पत्रकार मेरा क्या उखाड़ लेगा ऐसे पत्रकार बहुत घूमते हैं।अब यदि इतनी बड़ी बड़ी चुनौतीयो के बाद भी इस दबंग पर कोई कार्यवाही नही किया जाता तो ये भी बहुत चिंता और सवाल का विषय बनेगा।

इनका कहना है
मुझे शिकायत प्राप्त हुई है मैंने अमरकंटक थाना प्रभारी को लिखा है जांच कर अवश्य कार्यवाही किया जायेगा।

पुलिस SDOP मलखान सिंह
राजेन्द्रग्राम(अनूपपुर)