अपने खेत के पेड़ काट खुद के डिपो से बिना अनुमति बेच सकेंगे किसान

Scn news india

भोपाल-मध्य प्रदेश में किसान अब अपने खेत में लगे पेड़ों को बिना अनुमति काट सकेंगे यहाँ तक वे इसे डिपो खोल कर बेच भी सकेंगे जिसके लिए उन्हें किसी भी विभाग से अनुमति लेने की जरूरत नहीं होगी। राज्य सरकार ‘मप्र वृक्षारोपण प्रोत्साहन अधिनियम 2020″ ला रही है। जिसमें ये प्रविधान किए जा रहे हैं। अधिनियम का मसौदा तैयार है और अगले हफ्ते प्रस्तावित कैबिनेट की बैठक में रखा जाएगा। कैबिनेट की मंजूरी के बाद कानून विधानसभा से पारित कराया जाएगा। विधानसभा का सत्र 22 फरवरी से प्रस्तावित है। निजी भूमि पर पौधारोपण के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार यह कानून ला रही है। कानून नगरीय निकायों की सीमा को छोड़कर पूरे प्रदेश में लागू होगा। निजी भूमि पर प्राकृतिक रूप से उगने वाला और रोपा गया पौधा इस कानून के दायरे में आएगा। फिर चाहे लकड़ी साज की हो या सागौन। सिर्फ मामूली सी प्रक्रिया पूरी कर वन विभाग को सुचना दे कर पेड़ काटे जा सकेंगे। लेकिन इसमें ख़ास यह होगा की काटे गए पेड़ो की संख्या से दुगने पेड़ लगाने भी होंगे। जिस पर विभाग नजर रखेगा।