पन्ना में रोजगार मेला बना मजाक, नहीं मिला बेरोजगारों को रोजगार,अधिकारियों ने झाड़ा पल्ला

Scn news india

विकास सेन पन्ना 

पन्ना – मध्य प्रदेश सरकार के मुखिया चाहते हैं कि एक स्वर्णिम प्रदेश बने और मध्यप्रदेश के बेरोजगार युवकों को रोजगार के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाया जा सके उसी के तहत पूरे मध्यप्रदेश के साथ साथ पंन्ना में भी रोजगार मेला आयोजित किया गया लेकिन रोजगार मिला तो था बेरोजगारों को रोजगार दिलाने लेकिन यह सिर्फ कागजी खानापूर्ति बनकर रह गया बच्चों को बिना रोजगार की ही बैरंग लौटना पड़ा जरा देखे हैं रिपोर्ट –

यह है पन्ना का पॉलिटेक्निक कॉलेज जहां जिला स्तर पर पन्ना के बेरोजगार युवकों को रोजगार दिलाने के लिए तामझाम किया जा रहा है लेकिन साहब यह तामझाम सिर्फ अधिकारियों के जेब का हिस्सा ही है क्योंकि यहां पहुंचे बेरोजगार युवकों को रोजगार नहीं सिर्फ झूठा आश्वासन मिल रहा है हमने इस रोजगार मेले की हकीकत जब जानी चाहिए और बेरोजगार पहुंचे युवकों से बात करनी चाहिए तो जो फीडबैक मिला वह शासन की योजनाओं को यह अधिकारी जरूर पलीता लगाते नजर आए क्योंकि जो बच्चे 100-100 किलोमीटर दूर से आए थे उन्हें ना तो रोजगार मिला और ना ही कोई सुविधा यह शाम होते ही बैरंग अपने घर को वापस लौट गए ऐसी ही एक छात्र ने क्या कहा जरा आप भी सुनिए

हालांकि यह एक छात्र का हाल नहीं था ऐसे कई छात्र थे जो कह रहे थे कि सिर्फ यह मेला औपचारिकता ही है यहां आने पर ना ही लोगों को रोजगार दिया जा रहा है।

हालांकि जब इस संबंध में हमने यहां के रोजगार अधिकारी से बात करनी चाहिए तो उनका कहना था कि 347 लोगों के पंजीयन हुए हैं और 103 लोगों को रोजगार दिया गया है मतलब साफ है कि 29% लोगों को ही सिर्फ रोजगार दिया गया है लेकिन वह भी कागजों में बच्चों को कोई लेटर जारी नहीं किए गए

हालांकि शासन ने इस रोजगार मेले में बजट तो भारी भरकम खर्च किया और कर्मचारियों ने भी खूब मजे लिए लेकिन इन बेरोजगार युवकों की कोई ने सुध तक नहीं ली।