स्टेच्यू आफ यूनिटी से सीधे जुड़ा रीवा, प्रधानमंत्री ने रीवा से केवड़िया के लिये ट्रेन को वर्चुअली हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

Scn news india

कामता तिवारी
संभागीय ब्यूरो रीवा
Scn news india

रीवा – रीवा एवं विन्ध्य क्षेत्र को आज एक और बड़ी सौगात मिली जब रीवा सीधे स्टेच्यू आफ यूनिटी से जुड़ गया। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रीवा से केवड़िया (गुजरात) के लिये ट्रेन को वर्चुअली हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। अब इस अंचल के लोग सरदार बल्लभ भाई पटेल की विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू आफ यूनिटी का दीदार कर सकेंगे। समारोह में गुजरात के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री व उप मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री एस जयशंकर, पीयूष गोयल एवं मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल वर्चुअली उपस्थित रहे।


रीवा रेलवे स्टेशन में आयोजित कार्यक्रम में सांसद रीवा जनार्दन मिश्रा, राज्यसभा सांसद राजमणि पटेल, पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल, विधायक डॉ. पंचूलाल प्रजापति, विधायक श्यामलाल द्विवेदी, विधायक केपी त्रिपाठी उपस्थित रहे।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने उद्बोधन में कहा कि स्टेच्यू आफ यूनिटी को देश के विभिन्न स्थानों से जोड़ने का अभियान एक भारत श्रेष्ठ भारत थीम के तहत चलाया जा रहा है जिससे एक राज्य के लोग दूसरे राज्य में जाकर वहां की संस्कृति, पर्यटन आदि से अवगत हों। आज देश की एकता एवं अखण्डता में नया अध्याय जुड़ा है। उन्होंने ने कहा कि सरदार पटेल ने देश को एक सूत्र में जोड़ने का कार्य किया था अब उनकी प्रतिमा पूरे देश को जोड़ेगी। सरदार पटेल का एक भारत श्रेष्ठ भारत का सपना साकार होगा और केवड़िया मं लघु भारत दिखेगा। केवडिया का देश के अन्य स्थानों से सीधे जुड़ना विकास के नये आयाम लिखेगा और यहां के आदिवासी रहवासी व अन्य लोगों को स्वरोजगार व रोजगार के अधिक अवसर उपलब्ध होंगे। उन्होंने कहा कि देश के अन्य प्रातों के लोग गुजरात के केवड़िया में सरदार पटेल की प्रतिमा के अतिरिक्त सरदार सरोवर व आसपास के पार्क, धार्मिक स्थल व अन्य स्थलों का भ्रमण कर सकेंगे क्योंकि केवड़िया के आसपास के क्षेत्र को टूरिज्म का क्षेत्र बनाया गया है। यहां आकर पर्यटक पूर्ण परिवारिक पैकेज का लुप्त उठा पायेंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि भारतीय रेलवे ने नई सोच व एप्रोच के साथ नवीनतम टेक्नालॉजी का उपयोग कर स्थानीय स्तर पर उपलब्ध संसाधनों से कम समय में उल्लेखनीय कार्य किये हैं। रेलवे की तकनीक में आत्मनिर्भरता पर बल दिया जा रहा है उन्होंने भारत की प्रगति को गति देने वाली रेलवे व इससे जुड़े अधिकारियों-कर्मचारियों को बधाई दी।


कार्यक्रम को वर्चुअली रेल मंत्री पीयूष गोयल एवं गुजरात के मुख्यमंत्री श्री विजयभाई रूपाणी ने भी सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री ने रिमोट दबाकर डमोई चांदोद आमान परिवर्तित ब्रााडगेज, चांदोद-केवड़िया नई ब्रााडगेज रेल लाइन, प्रतापनगर केवड़िया नवीन विद्युतीकृत रेल खंड तथा डमोई जं. चांदोद तथा केवड़िया के नवीन स्टेशन भवनों का लोकार्पण किया। उन्होंने रीवा से केवड़िया, वाराणसी से केवड़िया, दादर से केवड़िया, अमहदाबाद से केवड़िया, हजरत निजामुद्दीन से केवड़िया, चेन्नई से केवड़िया, प्रतापनगर से केवड़िया तथा केवड़िया प्रतापनगर मेगू ट्रेन को वर्चुअली हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
प्रधानमंत्री के वर्चुअली हरी झण्डी दिखाते ही रीवा से रवाना हुई ट्रेन:- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हरी झण्डी दिखाते ही रीवा से केवड़िया के लिये 20 अत्याधुनिक एसएलबी कोच युक्त ट्रेन रीवा रेलवे स्टेशन से रवाना हुई यह ट्रेन सप्ताह में एक दिन चलेगी। रीवा रेलवे स्टेशन में आयोजित कार्यक्रम में नुक्कड़ नाटक के माध्यम से सरदार पटेल के जीवन दर्शन के प्रदर्शन प्रस्तुत दी गयी। जबलपुर रेल मंडल पश्चिम मध्य रेलवे द्वारा आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर इलैयाराजा टी, एसडीएम फरहीन खान, डीआरएम संजय विश्वास, सीसीएमपीएस बृजेन्द्र कुमार, सीएलई सुरेन्द्र यादव, सीनियर डीईएन को संजय यादव, एडीआरएम अमितोजवल्लम, रेलवे पीआरओ आईएम सिद्दीकी सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, प्रशासनिक अधिकारी, मीडिया से जुड़े प्रतिनिधिगण रेलवे के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन विश्वरंजन ने किया।