मटर उत्पादन से किसान हो रहे लाभान्वित कृषि कानून अध्यादेश बना उदाहरण

Scn news india

धामणगांव से भरत साहू की रिपोर्ट 

मध्यप्रदेश के बैतूल का एक गांव जहां आज किसान मटर का उत्पादन कर प्रतिदिन लाखों रूपए कमा रहे हैं और यह सम्भव हो पाया कृषि अध्यादेश कानून से , बैतूल में सर्वाधिक टमाटर और मटर उत्पादन करने वाला धामनगांव आज बड़े शहरों को टक्कर दे रहा है इस गांव में रोजाना 90/100 टन मटर निकाला जाता है जो लगभग 15 लाख रुपए का होता है, इस गांव में कृषि अध्यादेश कानून को उदाहरण के तौर पर देखा जा सकता है इस गांव का मटर खरीदने के लिए आज महाराष्ट्र के अमरावती,आकोला ,आकोट, ऐवतमाल, नागपुर, अंजनगाव, परतवाड़ा, रायपुर, जैसे बड़े शहरों के व्यापारी आकर किसानों के खेत से उपज खरिद रहे हैं आज व्यापारी और किसान आपस में मुल्य तय करते हैं जिसका नगद भुगतान भी किया जाता है, अन्य राज्यों के व्यापारी पहले यह काम बिचोलियों के सहारे किसानों की उपज चोरी छिपे और डर कर खरीदते थे परन्तु आज महाराष्ट्र के व्यापारी बिना बिचोलियों और बिना डरे किसानों से मिलकर खेत में उपज देखर अच्छे दामों में मटर खरीद रहे हैं, जो आज इसे किसान अध्यादेश कानून के उदाहरण के रूप में देख रहे हैं।  व्यापारी खुद किसान के खेत तक उपज खरीदने से किसानों में खुशी देखी जा रही है।