जहरीली शराब मामले में  मुरैना के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को हटाया

Scn news india

मनोहर

मुरैना -विगत दिनों मुरैना में जहरीली शराब पीने से 20 लोगों की मौत हो जाने के मामले में  आनन-फानन में बुधवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों की बैठक बुला  मुरैना के कलेक्टर अनुराग वर्मा और पुलिस अधीक्षक अनुराग सुजातिया को हटाने का आदेश दिया । वहीँ SDOP को सस्पेंड कर दिया गया है। बता दे कि 5 साल पहले मुरैना के जिस विसंगपुरा-मानपुर में शराबबंदी का निर्णय लिया गया था, उसी गांव में जहरीली शराब पीने से 3 दिन में 20 लोगों की जान चली गई। जिसके बाद प्रदेश की राजनीति में बवाल हो उठा। आनन-फानन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैठक बुला  मुरैना के कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक  को हटाने का आदेश दिया । और SDOP को सस्पेंड कर दिया।

घटना की ली पूरी जानकारी, डिस्टलरी की जाँच के निर्देश

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुलिस महानिदेशक से घटना की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। मुरैना जिले में हुई घटना में उपयोग में लाई गई मिलावटी शराब के निर्माण केन्द्र और दोषी व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही के साथ ही संबंधित डिस्टलरी की जाँच के निर्देश भी दिए गए। मुख्यमंत्री ने आबकारी और पुलिस अमले की पद-स्थापना में निश्चित समयावधि के बाद परिवर्तन के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि डिस्टलरी के लिए पदस्थ आबकारी अमले और ओआईसी को ओवर टाइम दिए जाने की व्यवस्था में भी परिवर्तन किया जाए।