प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत नंदनपुर सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार,तीसरे-चैथे पेटी कांट्रेक्टर कर रहे सड़क निर्माण,

Scn news india

  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत नंदनपुर सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार,
  • तीसरे-चैथे पेटी कांट्रेक्टर कर रहे सड़क निर्माण,
  • बनते ही उखड़ना शुरू, जिम्मेदार मौन

मोहम्मद आज़ाद 

पन्ना जिले के अजयगढ़ में  प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनाई जाने वाली सड़कों में भारी भ्रष्टाचार को अंजाम दिया जा रहा है। मुख्य ठेकेदार से काम लेकर तीसरे और चैथे पेटी काॅन्टेक्टरों द्वारा बेहद घटिया और गुणवत्ताहीन निर्माण करवाया जा रहा है। क्योंकि 4-4 ठेकेदारों में हिस्सेदारी, अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों का कमीशन के बाद बची-खुची राशि से निर्माण के नाम पर लीपापोती करदी जाती है। जो कुछ ही समय में खस्ताहाल होकर दुर्घटनाओं का कारण बनती है। उदाहरण के रूप में वर्तमान में निर्माणाधीन अजयगढ़-करतल मुख्य मार्ग से नंदनपुर तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत 82 लाख की लागत से 2700 मीटर लंबी सड़क को देखा जा सकता है। बताया गया है कि बांदा के ठेकेदार सुरेश गुप्ता द्वारा पेटी कांट्रेक्टर के द्वारा काम करवाया जा रहा है। पूर्व में मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गई सड़क के ऊपर प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सड़क का निर्माण किया जा रहा है। जहां बोल्डर और डस्ट से निर्मित घटिया बेस के उपर अमानक मटेरियल से डामरीकरण किया जा रहा है, जो इतना गुणवत्ताहीन बताया जा रहा है कि बनते ही बिखरना शुरू हो चुका है। ग्रामीणों द्वारा इस सड़क की गुणवत्ता पर सवाल उठाने बे बावजूद ठेकेदार अपनी मनमानी पर उतारू है। इंजीनियर से बात करने पर वह भी कुछ सुनने को तैयार नहीं है, इसी प्रकार के हालात क्षेत्र के अन्य प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित सड़कों के बताए जा रहे हैं। जो बनने के चंद दिनों बाद ध्वस्त होना शुरू होकर वर्तमान में खस्ताहाल हो चुकी हैं। स्थानीय जागरुक लोगों के अनुसार सड़क निर्माण उपरांत मेंटेनेंस का कार्य देखने वाला भी कोई नजर नहीं आता, जिसके चलते गांव-गांव को मुख्य मार्ग से जोड़ने वाली प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत लाखों और करोड़ों रुपए की लागत से बनने वाली सड़कें भ्रष्टाचार की भेंट कर रही हैं। जो चंद दिनों में जर्जर होने की वजह से दुर्घटनाओं का कारण बन रही हैं। ठेकेदारों और जिम्मेदार अधिकारियों की मिली भगत सड़क निर्माण में हो रहे भ्रष्टाचार का खमियाजा बेकसूर ग्रामीणों को दुर्घटना में अपनी जान गवां कर चुकानी पड़ती है। जिसका भ्रष्टाचारियों पर कोई असर नहीं देखा जा रहा है, कुछ ठेकेदारों द्वारा अधिक मुनाफे के लालच में एवं कुछ अधिकारी भी कमीशन के लालच में गुणवत्ताहीन सड़कों का निर्माण करवाकर शासकीय राशि के बंदरबांट किया लगे हैं।