कई राज्‍यों में कड़ाके की ठंड, 24 घंटों में बढ़ेगी ठिठुरन, देखें अपने क्षेत्र का नाम

Scn news india

देश के उत्तर मध्य भागों पर लगभग एक सप्ताह से बर्फीली हवाएं अपना असर दिखा रही हैं जिससे उत्तर भारत के अधिकांश शहरों में पारा लगातार नीचे जा रहा है। अब असर मध्य भागों में दिखाई देने लगा है। उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, तथा महाराष्ट्र में भी अब शीतलहर की संभावना है। दिल्‍ली में सर्दी गहराती जा रही है। अगले 3 दिनों तक दिल्ली के लोगों को इस भीषण सर्दी से राहत मिलने की संभावना नहीं है। अनुमान है कि अगले दो-तीन दिनों के दौरान कुछ स्थानों पर पारा 2 डिग्री या उससे भी नीचे पहुंच सकता है। कहीं-कहीं पर शून्य के करीब भी पहुंच जाएगा तापमान जिससे पाला पड़ने की भी आशंका है। दिल्ली में आगामी 3 दिनों के दौरान कुछ स्थानों पर कोहरा शुरू हो सकता है अगर कोहरा बढ़ता है तो दिन के तापमान में इसी तरह की कमी रहेगी। देश के मैदानी भागों में जब अधिकतम तापमान 16 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया जाता है तब उस दिन को कोल्ड दे कहा जाता है। यानी दिन में भी शीतलहर का प्रकोप देखा जाता है। दिल्ली के अलावा पिछले 24 घंटों में जिन शहरों में अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से नीचे रिकॉर्ड किया गया उनमें अलीगढ़, हिसार, शाहजहांपुर, मेरठ, लुधियाना, चंडीगढ़, करनाल, अंबाला, अमृतसर, रोहतक, बरेली शामिल है।18 दिसंबर को राजस्थान के चूरू में तापमान शून्य से नीचे पहुंच गया। अमृतसर, सीकर, नारनौल, पिलानी, भीलवाड़ा, नलिया, फुरसतगंज, हिसार, दतिया, करनाल, लुधियाना, बरेली, चित्तौड़गढ़ में भी भीषण सर्दी का आलम रहा।
जानिये अगले 24 घंटों का अनुमान
– चूरू, सीकर, अमृतसर, दिल्ली, मेरठ, बरेली सहित भीषण सर्दी से हलकान उत्तर भारत के शहरों में पाला पड़ने की भी आशंका है। कई इलाकों में तापमान फ्रीजिंग पॉइंट पर पहुंच सकता है।
– रोहतक, अंबाला, गंगानगर, पटियाला, ग्वालियर, बीकानेर, बांदा, चंडीगढ़, दिल्ली-एनसीआर, मेरठ, आगरा, गाजियाबाद, अलीगढ़ समेत पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान, मध्य प्रदेश, गुजरात में भीषण सर्दी देखने को मिल रही है।
– बर्फीली हवाएं उत्तर भारत के पहाड़ों से होकर अगले दो-तीन दिनों तक इसी तरह से बनी रहेंगी, जिसके कारण उत्तर भारत के कई शहरों में तापमान इसी तरह से और नीचे जाता रहेगा।
– राजस्‍थान के चूरू, गंगानगर, सीकर, अलवर, अमृतसर, लुधियाना, करनाल, कुरुक्षेत्र समेत दिल्ली एनसीआर में भी जल्द ही पाला पड़ने की भी संभावना है।