रिवर फ्रंट के निर्माण में आने वाली बाधाओं को दूर करने के संबंध में रीवा विधायक ने ली बैठक

Scn news india

 

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

रीवा- रीवा शहर में बाबाघाट से राजघाट तक नदी के दोनों किनारों में बनाये जाने वाले रिवर फ्रंट के निर्माण कार्य को गत दिनों प्रारंभ कराया गया। प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक राजेन्द्र शुक्ल ने रिवर फ्रंट निर्माण कार्य की प्रारंभिक स्थिति की जानकारी ली तथा आने वाली बाधाओं के संबंध में अवगत हुए। इस दौरान कलेक्टर इलैयाराजा टी एवं वह व्यक्ति भी उपस्थित थे जिनकी जमीन या मकान निर्माण की परिधि में आ रहे हैं।

स्थानीय राजनिवास में आयोजित बैठक में पूर्व मंत्री शुक्ल ने निर्माण कार्य के दौरान जिन व्यक्तियों के मकान या जमीन आ रही है उनको आश्वस्त किया कि पूरी संवेदनशीलता के साथ उनके पुर्नवास/पुर्नव्यवस्थापन के शासन स्तर से प्रयास सुनिश्चित कराये जायेंगे। श्री शुक्ल ने कहा कि नदी के किनारे ग्रीन बेल्ट को विकसित किये जाने के साथ रिवर फ्रंट का निर्माण कराया जा रहा है। नदी की चौड़ाई के बढ़ाये जाने से पानी का फैलाव होगा तथा रिवर फ्रंट के बन जाने से रीवा में आने वाली बाढ़ तो रूकेगी ही साथ ही उन व्यक्तियों को भी फायदा होगा जिनकी जमीन इससे लगी होगी। इसके साथ ही अगल-बगल की जमीनें भी बहुमूल्य हो जायेंगी। विधायक श्री शुक्ल ने निर्माण एजेंसी को निर्देश दिये कि नदी के किनारे पिचिंग कार्य कराते हुए सुदृढ़ अधोसंरचना का निर्माण करायें तथा रिवर फ्रंट में अन्य पहुंच मार्गों का भी विकास करें ताकि शहर के बीच के रास्तों से भी लोग रिवर फ्रंट पहुंच सकें। इस दौरान उपस्थित जनों ने सहमति व्यक्त करते हुए विधायक शुक्ल से कहा कि वह रिवर फ्रंट निर्माण में सहयोग करेंगे तथा रीवा शहर को सुंदर व आकर्षक बनाने में सहयोगी होंगे।

कलेक्टर ने नदी के किनारे की जमीनों के बिक्री पर प्रतिबंध लगाने के दिये निर्देश:- बैठक में कलेक्टर इलैयाराजा टी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि नदी के किनारे की जमीन जो ग्रीन वेल्ट एरिया में आ रही है यहां किसी भी प्रकार की जमीन की खरीद फरोख्त प्रतिबंधित रहेगी। उन्होंने उक्त निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिये। बैठक में अनुविभागीय अधिकारी हुजूर फरहीन खान, जिला गौसंवधर्न बोर्ड के उपाध्यक्ष राजेश पाण्डेय, कार्यपालन यंत्री हाउसिंग बोर्ड अनुज प्रताप सिंह, तहसीलदार आरपी त्रिपाठी तथा स्थानीय जन जिनकी जमीनें या मकान निर्माण परिधि में आ रहे हैं, उपस्थित रहे।