25 सूत्रीय मांगों को लेकर कल से करेंगे 2 दिवसीय क्रमिक भूख हड़ताल

Scn news india

जीत आम्रवंशी 

सारनी। भ्रष्टाचार उजागर संघर्ष समिति सारणी” की नगर पालिका परिषद सारणी से जुड़ी 21 बिंदुओं की उच्च स्तरीय जांच की मांगे हैं। तथा भ्रष्टाचार उजागर संघर्ष समिति इसके खिलाफ युद्ध स्तर पर मुहीम छेड़ने का एलान किया है जिस तारतम्य में क्रमिक भूख हड़ताल 21 व 22 नवंबर को एवं आमरण अनशन 23 नवंबर शनिवार से अनिश्चितकालीन  होगा।

21 बिंदुओं की उच्च स्तरीय जांच की मांगे

(1) नगर पालिका परिषद सारणी में बगड़ोना कॉलेज गेट से दमुआ नाका तक जो दो भागों में सड़क किनारे प्रकाशमय की जो व्यवस्था कि गई हैं उस कार्य से जुड़े समस्त दस्तावेज़ फर्म द्वारा लगाए गए सामग्री व सामग्रियों के बिल इन कार्यों में ली गई फॉरेस्ट की भूमि की अनुमति के दस्तावेज उनके कार्यादेश व निविदाएं,कार्यों में लगाई गई सामग्रियों की व फर्म को किए गए बिलों के भुगतान की नगरपालिका केे नियम अनुसार शेडूल ऑफ रेट (एस ओ आर) के आधार पर जारी हुई तकनीकी स्वीकृति व नगरीय प्रशासन की स्वीकृति वित्तीय स्वीकृति की उच्च स्तरीय जांच ।

(2) मुख्यमंत्री स्वच्छता मिशन के तहत नगर पालिका सारणी द्वारा वर्ष 15/16,/16/17,17/18 में जो शौचालय विहीन परिवारों को शौचालय बना कर दिए गए हैं उन समस्त 4320 शौचालय का व हितग्राहियों के द्वारा नगर पालिका परिषद सारणी के समक्ष्ष कटाई गई 1360 रुपए की समस्त रशीद की फर्मों को किए गए बिल भुगतान की जांच स्टीमेट के आधार पर बनाए गए संपूर्ण 4320 शौचालय उनके पूर्ण निर्माण में लगाई गई प्रति शौचालयों की हितग्राही के साथ की फ़ोटो शौचालय की फ़ोटो की व प्रति शौचालय का भौतिक निरीक्षण की व फर्म को अब तक 6 निविदाओ में वर्ष 15/16,/16/17, में जो 6 भागों में निर्माण कार्य किया नगर पालिका द्वारा जारी 6
कार्य देशों में जिन फर्मों ने काम किया उन कार्यो का निरीक्षण करने वाले इंजीनियर,समय पाल व अन्य जिम्मेदार अधिकारी द्वारा जो निर्माण कार्य की गुणवत्ता को लेकर गुणवत्ता पूर्ण शौचालय का प्रमाण जिन इंजीनियरों द्वारा दिया गया उसकी भी जांच की जाए व इस शौचालय निर्माण कार्य में गुणवत्ताहीन कार्य करने वाली फर्म पर व संबंधित संस्था के ज़िम्मेदार लोगों पर निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार पाए जाने पर उचित कार्रवाई करने की कृपा करें ।

(3) 2001 से 2017 तक जो हेडपंप सामग्रियां व लगाए गए संपूर्ण 36 वार्डो में हेड पंपों में जो सुधार कार्य किया गया,जी आई पाइप खरीदी की गई इन सभी का भौतिक निरीक्षण व फर्मों को किए गए बिल भुगतान की उच्च स्तरीय जांच ।

(4) वर्ष 2010 से 2018 तक जो मुरम,स्टोन डस्ट,जीरा गिट्टी नगर पालिका ने ठेका फर्म से खरीदी की उन सभी फर्मों को किए गए बिल भुगतान कि व उनसे लिए गई रॉयल्टी की उच्च स्तरीय जांच।

(5) बगडोना कॉलेज गेट के मुख्य मार्ग पर पूर्व में व वर्तमान में बनाए गए स्वागत द्वार के निर्माण कार्यों की व स्टीमेट के आधार पर हुए निर्माण कार्य व फर्म को किए गए बिल भुगतान की उच्च स्तरीय जांच ।

(6) वार्ड नंबर 1 और वार्ड नंबर 36 में जो 2 बड़ी पानी की पेयजल टंकी जिसका कुछ वर्षों पूर्व निर्माण कार्य किया गया था और बोर खनन और बाउंड्री वॉल की व्यवस्था बनाई गई थी उन निर्माण कार्यों की व वर्तमान में क्या वो पानी की टंकी उपयोग में हैं इसकी उच्च स्तरीय जांच ।

(7) वर्ष 2010 से 2017/2018 तक जो सड़क निर्माण,नाली निर्माण,रिटर्निंग वॉल,पुलिया निर्माण,मंगल भवन निर्माण,कचरा घर निर्माण,सार्वजनिक मूत्रालय निर्माण में लगाई गई रेत,गिट्टी,ईटा,सरिया की रॉयल्टी,बिल व फर्मों को किए गए बिल भुगतान कि उच्चस्तरीय जांच ।

(8) सारणी में नगर पालिका परिषद के अंतर्गत आने वाले समस्त उद्यान (बगीचों) के निर्माण कार्य की व उनकी देखरेख में किए गए वर्ष 2001 से वर्ष 2019 तक के फर्मो को किए गए बिल भुगतान की उच्च स्तरीय जांच।

(9) सारणी में समस्त 36 वार्डों में विगत 10 वर्षों में
लगाई गई पेविंग ब्लाकों का भौतिक निरीक्षण कार्य के उनके कार्यादेश,निविदाएं व स्टीमेट के आधार पर फर्मो द्वारा लगाए गए पेविंग ब्लॉकों की व फर्मों को किए गए कुल बिलों के भुगतान की उच्चस्तरीय जांच ।

(10) नगर पालिका परिषद सारणी में वर्ष 2010 से वर्ष 2018 तक जितने भी कार्य
1 लाख से नीचे के कार्य बिना निविदा निकाले ऑफलाइन वर्क किए गए हैं उन सभी के निर्माण कार्यों की नगरीय प्रशासन के नियम अनुसार इनकी जांच व फर्मों को किए गए अब तक के बिलों के भुगतान की उच्च स्तरीय जांच ।

(11) वर्ष 2001 से 2018 तक खरीदी किए गए पेट्रोल,डीजल नगर पालिका द्वारा चलित समस्त वाहनों के नंबर सहित पेट्रोल पंप संचालकों को किए गए बिलों के भुगतान की उच्चस्तरीय जांच ।

(12) नगर पालिका प्रशासन द्वारा विगत 10 वर्षों में खरीदी की गई कीटनाशक दवाई,ब्लीचिंग पाउडर,एल अम कर्मचारियों के लिए खरीदी किए गए सुरक्षा उपकरणों वह सफाई के उपयोग में आने वाली समस्त
सामग्रियों के बिल भुगतान की उच्च स्तरीय जांच ।

(13) 2010 से 2018 तक जो संपूर्ण फर्नीचर सामग्री नगर पालिका द्वारा खरीदी कि गई उन
फर्नीचरों का भौतिक निरीक्षण व फर्मों को किए गए बिलों के भुगतान की उच्चस्तरीय जांच ।

(14) नगर पालिका परिषद सारणी क्षेत्र के अंतर्गत होने वाले प्रधानमंत्री आवास में लगने वाली सामग्रियों व उसकी गुणवत्ता उस निर्माण कार्य में कार्य करने वाले मजदूरों को किए गए मजदूरी का भुगतान उन निर्माण कार्यों की सामग्रियों में भुगतान के समय फर्मों से ली गई रॉयल्टी, सामग्रियों के बिल व फर्म को अब तक किए गए बिल भुगतान की उच्च स्तरीय जांच ।

(15) सारणी क्षेत्र के अंतर्गत जो जल आवर्धन योजना के अंतर्गत पानी की पाइप लाइन बिछाई जा रही है उस कार्य के स्टीमेट के आधार पर
उसमें लगने वाली समस्त सामग्रियों की गुणवत्ता, मजदूरों को किए जाने वाले भुगतान, निर्माण कार्य में उपयोग में ली जाने वाली रेट,गिट्टी,सीमेंट,ईटा,लोहा,सरिया,पाईप लाइन में लगने वाले समस्त पाईप,मोटर, इन सभी सामग्रियों व फर्मो को अब तक किए गए बिलों के भुगतान की उच्चस्तरीय जांच।

(16) वर्ष 2001 से वर्ष 2019 तक जितने भी नगरपालिका सारणी द्वारा जनहित में निर्माण कार्य कराए गए हैं फर्मों द्वारा उन सभी में लगाए गए मजदूरों के ईपीएफ की उच्च स्तरीय जांच ।

(17) वर्ष 2001 से 2018 तक संपूर्ण निर्माण कार्यों में डब्ल्यूसीएल वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड,मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी लिमिटेड व फॉरेस्ट विभागों से निर्माण कार्यों के लिए जो अनापत्ति पत्र लिए गए हैं उन समस्त एनओसी के दस्तावेजों की उच्च स्तरीय जांच।

(18) नगर पालिका परिषद सारणी द्वारा परिषद के गठन के बाद वर्ष 2017 के पहले अब तक कितने बार डब्ल्यूसीएल (वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड) से अनापत्ति पत्र एनओसी को लेकर संबंधित विभागों से पानी और बिजली के साधन उपलब्ध कराने के लिए कितने बार पत्राचार व्यवहार किया गया उसकी उच्चस्तरीय जांच ।

(19) नगर पालिका परिषद
सारणी द्वारा जो वार्डों में पानी की टंकी निर्माण कार्य किया गया हैं उनका स्टीमेट व कार्यादेश के आधार पर जो निर्माण कार्य किया गया हैं व उसमें जो सामग्रियां लगाई गई हैं उसकी उच्च स्तरीय जांच ।

(20) जिन फर्मों के द्वारा जनता को दी जाने वाली सुविधाओं में गुणवत्ताहिन कार्य कर सरकारी कार्यों को नुकसान और जनता को असुविधा दि गई हैं व जनता के पैसों का दुरुपयोग किया गया हैं ऐसी फर्मों और विभाग के ज़िम्मेदार अधिकारियों पर जांच में दोषी पाए जाने पर उचित कार्रवाई की जाए ।

(21) नगर पालिका परिषद सारणी में जो 2015 से वर्ष 2019 तक जो लग्ज़री वाहन किराए पर लगाए गए हैं उसकी उच्चस्तरीय जांच ।

जनहित की व रोजगार को लेकर हमारी 4 बिंदुओं की मांगे और हैं…

(22) मध्य प्रदेश पावर जनरेटिग कंपनी लिमिटेड सारणी के द्वारा जो सतपुड़ा जलाशय में बढ़ती खरपतवार को रोकने और निरंतर जलाशय की गिरते पानी के स्तर को बचाने और इस लापरवाही में जिन जिम्मेदार अधिकारियों और चाइनीस झालर व (खरपतवार) को डैम से निकालने वाली फर्म को ठेका दिया गया उनके द्वारा किए गए कार्यों की उच्च स्तरीय जांच ।

(23) मध्य प्रदेश पावर जेनरेटिंग कंपनी लिमिटेड सारणी में जो वर्ष 1962 से 1968 में 62.5 मेगावाट की 5 इकाइयों (1.2.3.4.5) का निर्माण कार्य किया गया था उन 5 इकाइयों के डिस्मेंटल का कार्य सिक्किम फेरो कंपनी ने जो किया था वर्ष 2013 से 2017 के बीच उसकी निविदा निकलने से लेकर जारी कार्यादेश तक जो कार्य किया व मजदूरों से करवाया गया हैं उन समस्त कार्यों की उच्च स्तरीय जांच ।

(24) सारणी शहर में रोजगार के नए अवसर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के स्थानीय सांसद विधायक प्रतिनिधि द्वारा कोयला खदान गांधीग्राम में अब तक क्या कार्रवाई की गई है खदान को खोले जाने को लेकर व सारणी पावर प्लांट में नई इकाइयों के निर्माण में अब तक क्या कार्रवाई की गई हैं उससे जनता को जिम्मेदार जनप्रतिनिधियों व जिम्मेदार विभाग के अधिकारियों द्वारा दस्तावेजों के माध्यम से मंच स्थल पर आकर जनता को अवगत कराया जाए।

(25) लोनिया में तकरीबन 10 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले पूल निर्माण में लगने वाली सामग्रियां रेत,गिट्टी,सरिया के बिलों का रॉयल्टी का व मजदूरों को दिए जाने वाले वेतन उनका ईपीएफ व निर्माण एजेंसी को जारी स्टीमेट,डिज़ाईन,कार्यादेश सेतू विभाग द्वारा फर्म को जारी कार्यादेश की समयावधि व फर्म को अब तक किए गए बिल भुगतान की उच्चस्तरीय जांच की मांगे सम्मिलित है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

All rights reserved by "scn news india" copyright' -2007 -2019 - (Registerd-MP08D0011464/63122/2019/WEB)  Toll free No -07097298142
जनस
error: Content is protected !!