सिविल डिफेंस वारियर्स आपदा में आमजन के लिए होते हैं संकट मोचन- कमिश्नर

Scn news india

कामता तिवारी
ब्यूरो सतना
Scn news india

रीवा-शांति काल में आपदा प्रबंधन में सहायता के लिए प्रदेश के रीवा सहित 12 जिलों में सिविल डिफेंस वारियर्स बनाए गए हैं इन्हें एक दिवसीय प्रशिक्षण देने के लिए जिला होमगार्ड द्वारा कृष्णा राज कपूर ऑडिटोरियम में कार्यशाला का आयोजन किया गया कार्यशाला का शुभारंभ रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश जैन ने किया इस अवसर पर कमिश्नर जैन ने कहा कि सिविल डिफेंस वारियर्स आपदा के समय आमजन के लिए संकट मोचन होते हैं इन वारियर्स ने बाढ़ भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं का एवं कोरोनावायरस के समय उत्पन्न विषम परिस्थितियों में आम जनता की सराहनीय सेवा की है कमिश्नर ने कहा कि रीवा जिले में 100 सिविल डिफेंस वारियर्स का चयन किया गया है आज सभी को प्राकृतिक आपदाओं तथा दुर्घटनाओं के समय राहत और बचाव कार्य का प्रशिक्षण दिया जा रहा है राहत तथा बचाव से जुड़े उपकरणों के संचालन का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा हैकार्यशाला में दिए जा रहे ज्ञान का उपयोग करके संकट के समय आम जनता की सेवा करें जब हम संकट में होते हैं तो हमें थोड़ी सी सहायता और सहयोग भी संकट से बाहर निकालने के लिए बहुत बड़ा संबल साबित होती है सभी वारियर्स संकट के समय सेवा भाव के साथ राहत तथा बचाव के लिए कार्य कर रही विभिन्न एजेंसियों को सहयोग प्रदान करें जिससे आम जनता को आपदा के समय राहत दी जा सके उन्होंने कहा कि 1968 में नागरिक सुरक्षा अधिनियम के तहत सिविल डिफेंस वारियर्स का गठन किया गया यह दल गृह मंत्रालय के अधीन कार्य कर रहा है कार्यशाला में स्वागत उद्बोधन देते हुए जिला कमांडेंट मधु राजेश तिवारी ने कहा कि सिविल डिफेंस वारियर्स का मुख्य कार्य शांति काल में आपदा प्रबंधन में सहयोग देने का है वारियर्स सदैव आमजन की सुरक्षा के लिए सरकार के प्रयासों में भागीदारी निभाते हैं रीवा जिले में 100 सिविल डिफेंस वारियर्स तथा 10 जिला स्तरीय वॉलिंटियर्स को प्रशिक्षण दिया जा रहा है इन्हें प्रशिक्षण देने के लिए सतना अनूपपुर कटनी शहडोल बालाघाट उज्जैन जबलपुर जिलों से प्रशिक्षित प्लाटून कमांडर कार्यशाला में शामिल हुए हैं कार्यशाला में आपदा प्रबंधन तथा राहत एवं बचाव कार्य के जुड़े आधुनिक उपकरणों का भी प्रशिक्षण दिया जा रहा है प्रशिक्षण स्थल पर उपकरणों की प्रदर्शनी भी लगाई गई है कार्यशाला में संभागी कमांडेंट अपूर्व शुक्ला ने सिविल डिफेंस वारियर्स के कार्य आपदा प्रबंधन में भूमिका तथा उपकरणों के संचालन की जानकारी दी कार्यशाला के विभिन्न सत्रों में वॉलिंटियर्स को बाढ़ भूकंप अग्नि दुर्घटना वाहन दुर्घटना अन्य आपदाओं के समय राहत एवं बचाव कार्य की विस्तार से जानकारी दी गई कार्यशाला का संचालन परेड संस्था के संचालक डॉ मुकेश येंगल ने किया ने किया।