सिरफिरे ने घरेलू विवाद में सगे भाई, भाभी और भतीजी सहित भतीजे को जिंदा जला ,खुद फांसी पर झूला

Scn news india

मनोहर

अनूपपुर में सिरफ़िरे युवक ने  घरेलू विवाद में  अपने सगे भाई, भाभी और एक भतीजी और भतीजे को जिंदा जलाकर सनसनी खेज घटना को अंजाम दिया । घटना में तीन लोगों की दर्दनाक  मौत हो गई, जबकि भतीजे की हालत गंभीर बताई जा रही है । जानकारिनुसार बुधवार को  लगभग आधी रात युवक ने परिवार के तीन लोगों  को ओमकार 40 वर्ष , उसकी पत्नी कस्तूरिया  35 वर्ष  और बेटी निधि 16 वर्ष  के कमरे में पेट्रोल डालकर आग लगा दी। इसके बाद दीपक ने अपने भतीजे आशीष 17 वर्ष के कमरे में पंहुचा और यहाँ भी इसी तरह आग लगा दी । आग लगाते समय आरोपी खुद भी झुलस गया वहीँ घटना को  अंजाम दे कर खुद भी फांसी के फंदे पर झूल गया । पुलिस के मुताबिक, बैंक लोन की किश्त को लेकर दोनों भाइयों के बीच विवाद हुआ था।

जानकारी के मुताबिक, अनूपपुर के धनगवां गांव में तीन भाई ओमकार, चेतराम और दीपक विश्वकर्मा एक ही घर में रहते थे। इनमें दीपक सबसे छोटा था। सब अलग-अलग काम करते थे। सबसे छोटे भाई दीपक की शादी नहीं हुई थी। सालभर पहले उसे गैरेज खोलने के लिए दोनों भाइयों ने बैंक से 10 लाख रुपए का लोन दिलाया था। इसकी किश्त समय पर जमा न करने पर ओमकार और दीपक में विवाद होता रहता था।

दीवार पर लिखा- हत्या का कारण

पुलिस को  दीपक के कमरे की  दीवार पर कोयले से कुछ शब्द लिखे मिले हैं। लिखा है कि चेतराम उसे घर से निकालना चाहता था। साथ ही उस पर मारपीट और जुआ खेलने का आरोप भी लगा रहा था। पुलिस का कहना है कि दीपक के अपने भाई ओमकार के साथ रिश्ते अच्छे नहीं थे। दोनों में पैसों को लेकर विवाद हुआ था। शुरुआती जांच में लग रहा है कि दीपक ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। लेकिन, दूसरे एंगल को लेकर भी जांच की जा रही है।