नशे की हालत में विद्यालय में पाये जाने वाले शिक्षको के विरूद्ध करे सख्त कार्यवाही- कलेक्टर सर्व शिक्षा मिशन, शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक सम्पन्न

Scn news india

जीतेन्द्र पटेल 

शहडोल -कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ. सतेन्द्र सिंह ने आज कलेक्टर कार्यालय के सभागार में सर्व शिक्षा मिशन, शिक्षा विभाग एवं आदिम जाति कल्याण विभाग की संयुक्त बैठक लेकर विद्यालयों में एक शाला एक शिक्षा परिसर विद्यालयो की बाउण्ड्रीवाल विद्यालयों में रंगाई-पोताई एवं पंखे इत्यादि लगाने के कार्यों की विकासखण्डवार विस्तृत समीक्षा की। समीक्षा के दौरान बताया गया कि, जिले में 1625 प्राथमिक विद्यालय, 497 माध्यमिक विद्यालय, 97 हाई स्कूल एवं 82 हायर सेकेण्ड्री स्कूल कुल 2301 विद्यालय संचालित है। जिनमें से ब्यौहारी 90 विद्यालयो में एक शाला एक परिसर का कार्य पूर्ण हो चुका है। इसी प्रकार जिले के अनेक विद्यालयो में बाउण्ड्रीवाल का कार्य किया जा रहा है तथा जिले के 2028 विद्यालयों में 11420 पंखे लगाए जा चुके है तथा 2188 पंखे लगाने का कार्य प्रगति पर है। इनके लग जाने से जिले सम्पूर्ण शासकीय विद्यालयो में पंखा लगाने का कार्य शीघ्र ही पूर्ण हो जाएगा।
बैठक में कलेक्टर डॉ. सिंह ने उपस्थित अधिकारियो से कहा कि, वे विद्यालयो के शैक्षणिक कार्यों से जुडे, शिक्षको को यह समझाईस दे कि, जिस प्रकार वे छात्रो को अच्छी शिक्षा देकर उन्हें बेहतर बनाते है उसी प्रकार शिक्षा के मंदिरो (विद्यालयों) को भी बेहतर बनाना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि, इस कार्य हेतु शासन पर अधिक निर्भर न होकर स्व प्रेरणा एवं जन सहयोग से भी सफलता अर्जित की जा सकती है। बैठक में कलेक्टर ने कडे़ लहजे में निर्देशित किया कि, विद्यालयो में नशे की हालत में आने वाले शिक्षको के विरूद्व कड़ी से कड़ी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि, जिले की विद्यालयो में बनाई जाने वाली बाउण्ड्रीवाल की ऊचाई 5 फिट से ऊपर नही हो इसका सभी प्राचार्य एवं तकनीकी स्टाफ कड़ाई से पालन करे। बैठक में विद्यालयो के निर्माण कार्यों के साथ आंतरिक एवं बाहय विद्युती करण के कार्यों की भी समीक्षा की गई तथा शीघ्र कार्य पूर्ण कराने के निर्देश दिए गए। इसी प्रकार हमारा घर हमारा विद्यालय, गणवेश, पुस्तक, फीस, प्रतिभापर्व, प्रेरणा स्त्रोत, सी.एम. राईज आदि कार्यों की विस्तार से समीक्षा की गई।
बैठक में अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी श्री रणमत सिंह, समन्वयक सर्व शिक्षा डॉ. मदन त्रिपाठी, रमसा प्रभारी श्री अरविन्द पाण्डेय, सहायक आयुक्त आदिवासी कल्याण श्री एम.एस. अंसारी सहित बी.ई.ओ, बी.आर.सी. एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थें।