नवजातों को पोलियो की दवा पिलाकर किया नवजात शिशु सप्ताह का शुभारंभ

Scn news india

 


स्वप्निल जैन
शिवपुरी/खनियांधाना ।
नवजात शिशु की देखभाल एवं स्वास्थ्य को प्रोत्साहन देने एवं नवजात शिशु मृत्युदर को कम करने के उद्देश्य से आज जिला चिकित्सालय शिवपुरी में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.ए.एल.शर्मा ने नवजातों को पोलियो की दवा पिलाकर नवजात शिशु सप्ताह का शुभारंभ किया।
राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन म.प्र भोपाल द्वारा प्रदेश सहित शिवपुरी जिले में नवजात शिशु सप्ताह प्रारंभ किए जाने के निर्देश प्रदान किए हैं। इस सप्ताह के अंतर्गत जिले में आशा कार्यकर्ता नवजात शिशुओं को घर-घर जाकर परीक्षण करेगी। कमजोर, कुपोषित, समय से पूर्व जन्मे बच्चे, एसएनसीयू से डिसचार्ज हुए बच्चे पहली प्राथमिकता होंगे। जिनका आशा कार्यकर्ता द्वारा बजन, तापमान, श्वसन क्रिया आदि का परीक्षण किया जाएगा।
इसके अतिरिक्त चिकित्सा अधिकारी, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम को जबावदेही सौंपी गई है कि वह प्रत्येक आयुष डिलेबरी पाइंट पर जाकर जन्म लेने वाले हर बच्चे का परीक्षण करें व उपस्थित नर्सिंग स्टॉफ को भी प्रशिक्षित करें। नवजातों के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक तकनीकी आवश्यकताओं का निरीक्षण करें और कमी पाए जाने पर विकासखण्ड एवं जिला स्तर से समन्वय कर कमियों को दूर कराने का कार्य करें।
इसी प्रकार उप स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर पदस्थ कम्यूनिटी हेल्थ आफीसर गांव-गांव में भ्रमण कर वहां समुदाय स्तर पर नवजातों के स्वास्थ्य का परीक्षण करेगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन द्वारा उक्त कार्य की मोनीटरिंग के लिए नोडल आफीसर जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. संजय ऋषीश्वर को बनाया गया है। डीएचओ, डीपीएम, डीसीएम जिले में भ्रमण कर सप्ताह की गतिविधयों पर नजर रखेंगे, वही विकासखण्ड स्तर पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी, बीसीएम भ्रमण कर गतिविधियों को संचालित करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.ए.एल.शर्मा ने नवजात शिशु सप्ताह को अवसर बताते हुए फील्ड स्टाफ को पूरी बेहतर कार्य करने को कहा है। उन्होंने कहा कि यह अवसर है विभाग के मैदानी अमले को टीकाकारण, आरबीएसके. आरकेएसके, निमोनिया, कुपोषण, आईडीएसपी आदि कार्यक्रमों के पुनअवलोकन का। इस सप्ताह में बच्चों की शिद्दत से जांच कर अपने रिकार्ड को भी अपडेट कर लें।
कार्यक्रम शुभारंभ के अवसर पर जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. संजय ऋषीश्वर, आरएमओ डॉ राजकुमार ऋषीश्वर, डीपीएम डॉ.शीतल व्यास, डॉ. ब्रजेश मंगल, आरबीएसके कोर्डिनेटर अखिलेश शर्मा, सुनील जैन सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।